लालू परिवार के घमासान में आमने-सामने दिख रहे तेजस्‍वी-तेज प्रताप, निर्णायक दौर में दोनों भाइयों की लड़ाई

 

तेज प्रताप यादव, तेजस्‍वी यादव एवं लालू प्रसाद यादव। फाइल तस्‍वीरें।
लालू परिवार में तेजस्‍वी यादव एवं तेज प्रताप यादव के बीच का शीतयुद्ध अब सतह पर आ चुका है। लालू प्रसाद यादव को दिल्‍ली में बहन मीसा भारती के घर पर बंधक बनाए जाने का आरोप लगाकर तेज प्रताप ने तेजस्‍वी से आमने-सामने की लड़ाई का संकेत दे दिया है।

पटना। लालू परिवार  में दो भाइयों का शीतयुद्ध अब प्रत्यक्ष युद्ध में बदलता दिख रहा है। राष्‍ट्रीय जनता दल  प्रमुख को दिल्ली में बंधक बनाए जाने का आरोप लगाकर तेज प्रताप यादव  ने संकेत कर दिया है कि वह अब पर्दे में रहकर नहीं, बल्कि सामने आकर लड़ने  की तैयारी कर चुके हैं। आरोप इशारों में लगाए गए हैं, लेकिन संकेत साफ है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और मीसा भारती  मुख्य निशाने पर हैं। सुलह के लिए उन्होंने पहले पांच गांव की मांग की थी। नहीं मिला तो राजनीतिक उत्तराधिकार की लड़ाई निर्णायक दौर में पहुंच गई है।

अब स्वयं ही अर्जुन बनना चाहते हैं तेज प्रताप

तेजस्वी को कभी अर्जुन  और स्वयं को श्रीकृष्ण  बताने वाले तेज प्रताप की प्राथमिकता बदल गई है। अब तेजस्वी को नहीं, बल्कि स्वयं ही अर्जुन बनना चाहते हैं। इसी मकसद से उन्होंने छात्र आरजेडी के समानांतर अपना संगठन भी बनाया। नाम दिया- छात्र जनशक्ति परिषद। राजनीतिक दल की तरह ही इसका निबंधन भी कराया है। सिंबल तय किया। हर कदम पर आरजेडी से मुकाबला भी कर रहे हैं।jagran

आरजेडी से दूर होते जा रहे लालू के बड़े लाल

तेज प्रताप ने आरजेडी के सहयोगी के रूप में काम कर रहे दो संगठनों धर्मनिरपेक्ष स्वयंसेवक संघ (DSS) और यदुवंशी सेना (Yaduvanshi Sena) का विलय भी अपने संगठन में करा लिया है। इसे भी महज संयोग नहीं कहा जा सकता है कि तेजस्वी ने डाक्टरों से संवाद का आयोजन किया तो तेज प्रताप की तरफ से बयान आया कि उनका संगठन बिहार के बाहर भी यूपी एवं झारखंड में डाक्टरों को जोड़ने की पहल करेगा। संकेत साफ है कि लालू के बड़े लाल तेज प्रताप आरजेडी से धीरे-धीरे दूर होते चले जा रहे हैं।


jagran

अपने नहीं दे रहे साथ, मीसा से भी बढ़ी दूरी

तेज प्रताप के आरोप बता रहे हैं कि जिस महाभारत की ओर वह बढ़ रहे हैं, उसमें उनके अपने भी साथ नहीं रह गए हैं। पहले माना जाता था कि तेज प्रताप को मीसा भारती का साथ मिला हुआ है, लेकिन हाल के दिनों में जिस तरह से तेज प्रताप संगठन से दूर होते चले गए, उससे मीसा भारती ने भी उनका साथ छोड़ दिया है। अब तेज प्रताप अकेले खड़े हैं। एक दिन पहले उन्होंने लालू को दिल्ली में बंधक बनाकर रखने का आरोप लगाया था। जाहिर है, लालू अभी दिल्ली में मीसा भारती के सरकारी आवास में हैं। तेज प्रताप ने संकेतों में मीसा भारती को भी कठघरे में खड़ा किया है। हालात बता रहे कि मीसा से भी उनकी दूरी बढ़ गई है।