दिल्ली के प्रेमनगर इलाके में प्रापर्टी डीलर ने खुद को मारी गोली, दफ्तर में मिला शव

 

मृतक की पहचान 40 वर्षीय अशोक विजयरन के रूप में हुई है।
प्रेम नगर इलाके में सोमवार की देर शाम प्रापर्टी डीलर ने अपने दफ्तर ही में खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। मृतक की पहचान 40 वर्षीय अशोक विजयरन के रूप में हुई है। पुलिस ने शव को कब्जे लेकर मंगोलपुरी के संजय गांधी अस्पताल में रखवा दिया है।

नई दिल्ली,संवाददाता। प्रेम नगर इलाके में सोमवार की देर शाम प्रापर्टी डीलर ने अपने दफ्तर ही में खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। मृतक की पहचान 40 वर्षीय अशोक विजयरन के रूप में हुई है। पुलिस ने शव को कब्जे लेकर मंगोलपुरी के संजय गांधी अस्पताल में रखवा दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है। अभी तक घटना के पीछे के कारणों का पता नहीं चल सका है।

जानकारी के मुताबिक अशोक अपने परिवार के साथ किराड़ी इलाके के निठारी गांव में रहते थे। और इंदर एनक्लेव में प्रापर्टी के कारोबार के लिए दफ्तर खोल रखा था। बताया जाता है कि उनके दफ्तर को बंद करने के लिए एक महिला सफाई कर्मचारी आया करती थी। वह जब देर शाम दफ्तर बंद करने के लिए पहुंची तो दफ्तर में अंधेरा था। उन्होंने अंदर जाकर देखा तो अशोक फर्श पर खून से लथपथ पड़े हुए थे। उन्होंने शोर मचाकर आसपास के लोगों को बुलाया।

फिर स्वजनों को सूचना दी गई। सूचना के बाद मौके पर रोहिणी जिले के पुलिस के आला अधिकारी भी पहुंच गए। वहीं एक अन्य घटना में बाहरी-उत्तरी जिले के डीसीपी बृजेंद्र सिंह यादव ने बताया कि आरोपित मोहित उर्फ गोलू परिवार के साथ भलस्वा डेरी इलाके में रहता है।

वह फरीदाबाद की एक कंपनी में नौकरी करता है। जहां उसकी दोस्ती एक युवती से हो गई। उसी कंपनी में कार्यरत प्रदीप ने मोहित को युवती से दूर करने की धमकी दी थी। मोहित उसे सबक सिखाना चाहता था। उसे पता था कि महेंद्रा पार्क में रहने वाले बलवान सिंह के पास जर्मनी निर्मित लाइसेंसी पिस्टल है। मोहित ने 16 अक्टूबर को उनके घर का ताला तोड़कर पिस्टल व सात कारतूस चोरी कर लिए। लेकिन कुछ करने से पहले भलस्वा डेरी थाना पुलिस ने आरोपित को दबोच लिया।