रेवाड़ी में फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी से दिनदहाड़े सात लाख की लूट, वारदात को अंजाम देकर बदमाश फरार

 

फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी आदित्य जिसके साथ हुई लूट की वारदात।
ब्रास मार्केट स्थित एक निजी फाइनेंस कंपनी के कैशियर से तीन बदमाशों ने मारपीट करके सात लाख एक हजार रुपये लूट लिए। कैशियर कार्यालय से मोटरसाइकिल पर सवार होकर नई अनाजमंडी स्थित पंजाब नेशनल बैंक में नकदी जमा कराने के लिए जा रहे थे।

रेवाड़ी,  संवाददाता। ब्रास मार्केट स्थित एक निजी फाइनेंस कंपनी के कैशियर से तीन बदमाशों ने मारपीट करके सात लाख एक हजार रुपये लूट लिए। कैशियर कार्यालय से मोटरसाइकिल पर सवार होकर नई अनाजमंडी स्थित पंजाब नेशनल बैंक में नकदी जमा कराने के लिए जा रहे थे। कार्यालय से महज दस कदम की दूरी पर ही बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों ने अपना चेहरा ढका हुआ था। दिनदहाड़े हुई लूट की वारदात से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। सूचना के बाद पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल भी मौके पर पहुंचे। पुलिस की टीमें बदमाशों की पहचान का प्रयास कर रही है।

 पहले से ही तैयार खड़े थे नकाबपोश बदमाश

ब्रास मार्केट स्थित महेंद्रा फाइनेंस की शाखा में राजस्थान के जिला अलवर के गांव मांढण निवासी आदित्य कैशियर है। बुधवार की दोपहर करीब दो बजे वह शाखा से सात लाख एक हजार रुपये बैग में लेकर नई अनाज मंडी स्थित पंजाब नेशनल बैंक में जमा कराने के लिए जा रहे थे। वह मोटरसाइकिल पर सवार होकर शाखा से मात्र 10 कदम दूर ही चले थे कि पहले से खड़े दो नकाबपोश युवकों ने आदित्य को रोक लिया तथा मारपीट कर बैग छीन लिया।बैग छीनने के बाद दोनों बदमाश पैदल ही महाराणा प्रताप चौक की तरफ भाग गए। महाराणा प्रताप चौक की तरफ जाने वाली सड़क पर पहले से ही दोनों का एक साथी मोटरसाइकिल लिए खड़ा हुआ था, जिस पर बैठ कर तीनों वहां से रफूचक्कर हो गए।

विभाग में मचा हड़कंप

फाइनेंस कंपनी कर्मचारी से दिनदहाड़े मार्केट में सात लाख रुपये की लूट की वारदात के बाद पुलिस विभाग में भी हड़कंप मच गया। सूचना के बाद माडल टाउन थाना एसएचओ कबूल सिंह, सेक्टर-तीन चौकी इंचार्ज एएसआइ अजय कुमार और अपराध अनुसंधान शाखा (सीआइए) इंचार्ज सतेंद्र सिंह की टीम मौके पर पहुंची तथा आदित्य से वारदात की जानकारी दी। पुलिस की टीमों ने तुरंत ही बदमाशों की तलाश शुरू की। पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल भी सूचना के बाद घटनास्थल पर पहुंचे तथा आदित्य से जानकारी जुटाई।

बदमाशों को थी पूरी जानकारी

जिस तरीके से लूट की वारदात को अंजाम दिया गया है, उससे पुलिस को अंदेशा है कि बदमाशों को आदित्य के लाखों रुपये की नकदी लेकर निकलने की पूरी जानकारी थी। आशंका है कि बदमाश कई दिनों से रेकी कर रहे थे। बदमाशों को शाखा से बाहर निकलने का समय भी पता था। प्राथमिक जांच में यह भी सामने आया है कि जब आदित्य से बदमाश पैसे छीन रहे थे उस दौरान उसने कोई शोर नहीं मचाया। अगर आदित्य शोच मचाता तो आसपास मौजूद लोग मदद कर सकते थे। लूट की वारदात के बाद आदित्य वापस शाखा में पहुंचे और वारदात की जानकारी दी, जिसके बाद पुलिस को सूचित किया गया।

एसपी ने दिए निर्देश

फिलहाल माडल टाउन थाना पुलिस ने आदित्य की शिकायत पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ लूट की प्राथमिकी दर्ज कर ली है। पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल ने सीआइए रेवाड़ी व माडल टाउन थाना पुलिस को बदमाशों की पहचान कर वारदात को सुलझाने व नकदी बरामद करने के निर्देश दिए है। अलग-अलग टीमें बदमाशों की तलाश कर रही है।