कांस्टेबल की पिस्टल छीनकर पुलिस कर्मियाें पर की फायरिंग, जवाबी कार्रवाई में बदमाश घायल

 


जवाबी कार्रवाई में बदमाश के पैर में लगी गोली
भलस्वा डेरी इलाके में हत्या के प्रयास के मामले में गिरफ्तार बदमाश ने कांस्टेल की सरकारी पिस्टल छीनकर पुलिस कर्मियाें पर फायरिंग कर दी और भागने लगा। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी गोली चलाई जो उसके दाहिने पैर में लगी और उसे पुलिस कर्मियों ने दबोच लिया।

नई दिल्ली । भलस्वा डेरी इलाके में हत्या के प्रयास के मामले में गिरफ्तार बदमाश ने रविवार की देर रात कांस्टेल की सरकारी पिस्टल छीनकर पुलिस कर्मियाें पर फायरिंग कर दी और भागने लगा। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी गोली चलाई, जो उसके दाहिने पैर में लगी और उसे पुलिस कर्मियों ने दबोच लिया। वारदात के समय पुलिस उसे हथियार बरामद कराने के लिए लेकर गई थी। इस बाबत भलस्वा डेरी थाने में उसके खिलाफ पुलिस कर्मियों पर हमला करने, हत्या के प्रयास, सरकारी कामकाज में बाधा डालने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

बाहरी उत्तरी जिले डीसीपी बृजेंद्र कुमार यादव ने बताया कि सहदुल ने भलस्वा डेरी थाने में इलाके के घोषित बदमाश नवाब के खिलाफ हत्या के प्रयास की धारा में मुकदमा दर्ज करया था। पीड़ित ने बताया कि उसके पिता एवं नवाब के पिता के बीच में दो अक्तूबर को विवाद हो रहा था। सहदुल ने बीच बचाव कराकर मामला शांत करा दिया, लेकिन नवाब ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। दो अक्तूबर की रात को नवाब ने अपने साथियों के साथ मिलकर सहदुल पर फायरिंग की। लेकिन वह बाल बाल बच गया।

इस मामले की जांच के लिए एसीपी अचिन गर्ग की देखरेख में भलस्वा डेरी थाने के एसएचओ हरेंद्र सिंह के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। पुलिस टीम ने रविवार को आरोपित को दबोच लिया। पूछताछ में उसने बताया कि उसने विजय चौक के निकट झाड़ियों में पिस्टल व कारतूस छिपा रखे हैं। ऐसे में एसआइ मनोज, कांस्टेबल विश्राम और अरुण आरोपित को लेकर हथियार बरामद करने के लिए गये।

इसी दौरान आरोपित ने कांस्टेबल

अरुण की पिस्टल छीन ली और पुलिस पर फायरिंग करते हुए जंगल की तरफ भागने लगा। ऐसे में उसका पीछा करते हुए कांस्टेबल विश्राम ने जवाबी फायरिंग की तो नबाव के पैर में गोली लग गई। जिससे उसे मौके पर पकड़ लिया। वह पूर्व में कई मामले में आरोपित रहा है।