माता-पिता संग नेशनल अवार्ड लेने पहुंचीं कंगना रनोट ने कहा- 'मां-बाप को जितना परेशान किया, उसकी भरपाई...'

 

Kangana Ranaut with her parents and national award. Photo- Instagram
कंगना रनोट ने अपने पिता की मर्ज़ी के ख़िलाफ़ जाकर अभिनय की दुनिया को चुना और अपने इस फ़ैसले की वजह से उन्हें करियर की शुरुआत में अकेले ही काफ़ी संघर्ष करना पड़ा था। कंगना ने कई बार इस बारे में बात भी है।

नई दिल्ली। दिल्ली के विज्ञान भवन में आज (25 अक्टूबर) 67वें राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार समारोह का आयोजन किया गया, जिनमें सभी विजेताओं को मेडल और प्रमाण पत्र दिये गये। कंगना रनोट को मणिकर्णिका- द क्वीन ऑफ झांसी और पंगा के लिए संयुक्त रूप से बेस्ट एक्ट्रेस का पुरस्कार दिया गया।

अभिनय के लिए कंगना का यह चौथा राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार है। कंगना अपने माता-पिता के साथ पुरस्कार समारोह में पहुंची थीं। उन्होंने यह पुरस्कार अपने माता-पिता को समर्पित किया। कंगना ने समारोह के बाद इंस्टाग्राम पर माता-पिता के साथ अपनी तस्वीरें पोस्ट कीं। इन तस्वीरों में कंगना के पिता प्रमाण पत्र और मां मेडल थामे हुए विक्ट्री साइन दिखा रहे हैं। एक तस्वीर में कंगना अपनी मां के माथे पर किस कर रही हैं। 

इसके साथ कंगना ने लिखा- हम लोग अपने अंदर यह ख्वाहिश लेकर बड़े होते हैं कि अपने माता-पिता के प्यार, दुलार और बलिदानों के लायक बनेंदे। मैंने अपने मम्मी-पापा को जो भी परेशानियां दीं, ऐसे दिन उन शैतानियों की एक भरपाई हैं। मेरे माता-पिता बनने के लिए शुक्रिया। मैं इसे किसी दूसरी तरह से नहीं देख सकूंगी। 

बता दें, कंगना अपने इंटरव्यूज़ और सोशल मीडियो पोस्ट के ज़रिए कई बार अपने बचपन और संघर्ष के दिनों को याद करती रही हैं। कंगना ने अपने पिता की मर्ज़ी के ख़िलाफ़ जाकर अभिनय की दुनिया को चुना और अपने इस फ़ैसले की वजह से उन्हें करियर की शुरुआत में अकेले ही काफ़ी संघर्ष करना पड़ा था। यह संघर्ष प्रोफेशनल और पर्सनल दोनों मोर्चों पर था।

कंगना ने 2006 में अनुराग बसु की फ़िल्म गैंगस्टर से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। अपने फ़िल्मी करियर में कंगना ने कई यादगार भूमिकाएं कीं तो कई ऐसी फ़िल्में भी कीं, जो याद रखने के लायक नहीं हैं। 2008 की फ़िल्म फैशन के लिए कंगना को बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का पहला नेशनल अवार्ड मिला था। 2014 में आयी क्वीन के लिए उन्हें बेस्ट एक्ट्रेस का दूसरा नेशनल अवार्ड दिया गया। 2015 में आयी तनु वेड्स मनु रिटर्न्स के लिए कंगना को बेस्ट एक्ट्रेस का तीसरा नेशनल अवार्ड दिया गया था। 

कंगना की फ़िल्म बहुभाषी फ़िल्म थलाइवी नेटफ्लिक्स पर हिंदी में और दक्षिण भारतीय भाषाओं में अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ हुई थी। अब धाकड़ और तेजस में नज़र आएंगी।