राजनाथ सिंह बोले- सैन्य आधुनिकीकरण पर है फोकस, बढ़ रही सैन्य उपकरणों की मांग; जानें और क्या बोले रक्षा मंत्री

 


राजनाथ सिंह बोले- सैन्य आधुनिकीकरण पर है फोकस, बढ़ रही सैन्य उपकरणों की मांग
दिल्ली में आज डेयर टू ड्रीम पुरस्कार विजेताओं और डीआरडीओ (DRDO) के युवा वैज्ञानिकों के अभिनंदन कार्यक्रम के संबोधन में रक्षा मंत्री ने यह बयान दिया। राजनाथ सिंह ने कहा कि देश अपने सैन्य आधुनिकीकरण पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

नई दिल्ली, एएनआइ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज वैश्विक सुरक्षा चिंताओं, सीमा विवादों और समुद्री मामलों के महत्व पर बयान दिया। उन्होंने कहा कि न केवल नई बल्कि स्वदेशी प्रौद्योगिकियां भी समय की मांग हैं। हम उन्नत और स्वदेशी प्रौद्योगिकियों की दिशा में काम कर रहे हैं क्योंकि इन प्रौद्योगिकी वाले देश दुनिया में अपना प्रभुत्व बनाता है। इससे हमारे समग्र विकास में भी मदद मिलेगी।

दिल्ली में आज 'डेयर टू ड्रीम' पुरस्कार विजेताओं और डीआरडीओ (DRDO) के युवा वैज्ञानिकों के अभिनंदन कार्यक्रम के संबोधन में रक्षा मंत्री ने यह बयान दिया। राजनाथ सिंह ने कहा कि देश अपने सैन्य आधुनिकीकरण पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। यही वजह है कि सैन्य उपकरणों की मांग बढ़ रही है।

इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने कहा कि आज ट्रेड, इकानोमी, संचार, यानी हर क्षेत्र में बदलाव देखा जा रहा है। इनसे दुनिया का कोई कोना अछूता रह जाए, मैं समझता हूं वह संभव नहीं है। दुनिया भर में हो रहे यह बदलाव राष्ट्रों की सुरक्षा को भी उतनी ही बढ़ा रहे हैं।इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने कहा कि आज के इस कार्यक्रम में जो चीज मुझे सबसे अधिक आकर्षित कर रहा है वह है ‘Dare to Dream’ चुनौती। ये तीन शब्द हमारे विजन और मिशन को बहुत साफ तौर से दर्शाते हैं।

उन्होंने कहा कि यह सपने ही हैं, जो साकार होकर दुनिया को नई नई दिशाएं देते गए। ये सपने ही हैं जिन्होंने असंभव सी लगने वाली चीजों को अपनी मुट्ठी में कर लिया। दुनिया की जितनी बड़ी से बड़ी खोज और अविष्कार हैं आप देखेंगे तो पाएंगे कि वे सब किसी न किसी सपने का ही परिणाम है। आगे मंत्री ने कहा कि हमारे पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई जी ने ऐसे भारत का सपना देखा था, जहां बस सुदूर क्षेत्र ही नहीं, बल्कि लोगों के दिल आपस में मज़बूती से जुड़ें।

इसके साथ ही रक्षा मंत्री ने कहा कि आज लगभग 60 फीसद युवा आबादी के साथ हमारा देश, दुनिया का सबसे युवा देश है। हमारा युवा न केवल आज की जरूरतों, बल्कि आने वाले कल की आशा और सपने को भी पूरा करने के लिए बिलकुल तैयार है।