सेहत के ल‍िए टॉन‍िक है सूर्य नमस्कार, आज से ही इसे आदत में शामिल कर लें

 

सेहत के ल‍िए टॉन‍िक है सूर्य नमस्कार, आज से ही इसे आदत में शामिल कर लें

 अगर आप अपने तन-मन को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो सूर्य नमस्कार को अपनी रूटीन में जरूर शामिल कर लें। नियमित रूप से सूर्य नमस्कार करने के स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं खुद ब खुद दूर हो जाते हैं। योग गुरु श्वेता पाठक से जानिए इसके फायदे...

जमशेदपुर : सूर्य नमस्‍कार करना शरीर को कई तरीके से फायदा पहुंचाता है। सुबह में न‍ियम‍ित सूर्य नमस्‍कार करने की आदत आपको कई तरह की हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स को दूर करने में मदद करती है। जमशेदपुर की प्रसिद्ध योग गुरु श्वेता पाठक बता रही हैं सूर्य नमस्कार के फायदे। श्वेता पाठक कहती हैं कि हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में सूर्य नमस्कार बेहद फायदेमंद है। सदियों काल से लोग भगवान सूर्य की पूजा करते आ रहे है। शास्त्रों में भी इनकी पूजा का विशेष महत्व बताया गया। स्वास्थ्य के नजरिए से देखा जाए, तो सूर्य की किरणों से आने वाला विटामिन डी हमारे शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ-साथ गंभीर बीमारियों को भी दूर करने में मदद करता है।

jagran

सूर्य नमस्कार करने से फायदे ही फायदे

पाचन तंत्र को करें मजबूत ः यदि आप प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करें, तो आपका पाचन तंत्र मजबूत हो सकता है। इससे आपकी पेट संबंधित समस्या दूर हो सकती है। सूर्य नमस्कार 12 योगासनों से मिलकर बना होता है। सूर्य नमस्कार करने के क्या-क्या फायदे हैं यदि नहीं जानते हैं तो योग गुरु श्वेता पाठक बता रही हैं फायदे ही फायदे।

शरीर में लाए लचीलापन ः सूर्य नमस्कार एक अच्छा व्यायाम माना जाता है। यदि आप प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करें, तो इससे आपके शरीर में लचीलापन पैदा हो सकता है और आपको झुकने उठने में आसानी होगी। यदि आप मोटापे की समस्या से परेशान है, तो सूर्य नमस्कार आपके लिए बेहद फायदेमंद होगा। इसे करने से शरीर पर जोर पड़ता है और आपकी अनावश्यक चर्बी धीरे-धीरे कम हो सकती है।

तनाव को कम करने में लाभदायक ः सूर्य नमस्कार करते समय हम लंबी सांस लेते है, जिसकी वजह से हमारे शरीर में होने वाली बेचैनी और तनाव बहुत हद तक दूर होती है। यदि आप प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करें, तो आपका तनाव बहुत हद तक दूर कर सकता है। झुकने वाले कामों को करने से कब्ज की समस्या कभी भी नहीं होती है। यदि आप सूर्य नमस्कार प्रतिदिन करें, तो आपकी कब्ज की शिकायत बहुत हद तक दूर हो सकती है।

jagran

कब करें सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार के 12 चरण का हर रोज अभ्यास करने से दिमाग सक्रिय और एकाग्र बनता है। आमतौर पर इसका अभ्यास सुबह खाली पेट में किया जाता है। सुबह के समय खुली जगह पर इसे करें, जहां ताजी हवा मिले।