आखिर किसकी शह पर अवैध पार्किंग में हो रही है वसूली

 

एक माह पूर्व नगर निगम की तीस पार्किंग का ठेका निलंबित हो चुका है। सभी पार्किंग मुफ्त हैं।
शाह मार्केट एमजी रोड रामबाग बोदला भगवान टाकीज वाटर वर्क्स चौराहा के पास पार्किंग स्थल प्रमुख रूप से शामिल। नगर निगम के तीस पार्किंग स्थलों में मुफ्त है पार्किंग। न्यू आगरा से दयालबाग रोड पर जगह-जगह अतिक्रमण। हर दिन वाहन चालकों से पैसा लिया जाता है

आगरा,  संवाददाता। एक माह पूर्व नगर निगम की तीस पार्किंग का ठेका निलंबित हो चुका है। सभी पार्किंग मुफ्त हैं लेकिन इसके बाद भी शाह मार्केट, अंजना सिनेमा के पास एमजी रोड, राजा की मंडी बाजार के पास, रामबाग, बोदला, भगवान टाकीज के समीप, वाटर वर्क्स चौराहा के पास पार्किंग स्थलों में हर दिन अवैध वसूली हो रही है। यह अवैध वसूली किसकी शह पर हो रही है। हर दिन किसकी जेब में पैसा जा रहा है। रोड और फुटपाथ पर धड़ल्ले से वाहन खड़े हो रहे हैं। वहीं, न्यू आगरा से दयालबाग रोड पर जगह-जगह अतिक्रमण है। लोक निर्माण विभाग, नगर निगम और ट्रैफिक पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। हर दिन जाम लगता है और लोगों को परेशान होना पड़ रहा है।

शहर में नगर निगम की तीस पार्किंग थीं। पिछले वित्तीय साल में दो करोड़ रुपये का राजस्व मिला था। इस साल भी इतना ही राजस्व मिलने की उम्मीद थी। एक माह पूर्व प्रदेश सरकार के आदेश पर तीस पार्किंग का ठेका निलंबित कर दिया गया। इन सभी पार्किंग में प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित मानक पूरे नहीं थे। तीस में 15 पार्किंग रोड और फुटपाथ को घेरकर चल रही थीं। ऐसी पार्किंग का ठेका निरस्त करने की तैयारी चल रही है। अवैध पार्किंग को लेकर निगम और कलक्ट्रेट में हर दिन पांच से सात शिकायतें पहुंचती हैं। शहर के प्रमुख चौराहों में अवैध वसूली को लेकर कई शिकायतें मिली हैं। यह सभी निगम की पार्किंग हैं। दो और चार पहिया वाहन खड़े होते हैं। हर दिन वाहन चालकों से पैसा लिया जाता है। पर्ची नहीं दी जाती है। सवाल यह उठता है कि जब निगम ने पार्किंग का ठेका रद कर दिया है तो वसूली किसके कहने पर की जा रही है। उधर, न्यू आगरा से दयालबाग रोड पर तीन दर्जन से अधिक ठेल खड़े होते हैं। दुकानदारों ने रोड और फुटपाथ पर कब्जा कर लिया है। लोक निर्माण विभाग के इंजीनियरों द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

नगर निगम में पार्किंग के यह हैं मानक

-पार्किंग एरिया चिह्नित होना चाहिए।

-पार्किंग स्थल में शेड होना चाहिए।

-पुरुष और महिला शौचालय होने चाहिए।

-रेट लिस्ट चस्पा होनी चाहिए।

-पानी के पानी की व्यवस्था होनी चाहिए।

किसी को न दें पार्किंग शुल्क

मेयर नवीन जैन ने बताया कि शहर में नगर निगम द्वारा संचालित तीस पार्किंग में मुफ्त वाहन खड़े किए जा सकते हैं। लोगों से अपील है कि किसी को कोई भी शुल्क न दें। अगर कोई पैसे मांगता है तो इसकी शिकायत निगम कार्यालय में की जा सकती है।