दूसरे दिन भी अनशन पर डटी रही बबली, देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी संघ ने कहा उग्र होगा आंदोलन

 

बबली देवी मंगलवार को दूसरे दिन भी अनशन पर डटी रहीं। आंदोलन को 19 दिन हो गए हैैं।
मंगलवार को धरना स्थल पर बोलते हुए प्रदेश अध्यक्ष राहत मसीह ने कहा कि कर्मचारियों की इस तरह की अनदेखी निराश करने वाली है। शहर की सफाई जैसी बुनियादी जिम्मेदारी संभालने वाले कर्मचारियों की उपेक्षा निगम प्रशासन की अदूरदर्शिता को दिखाता है।

 संवाददाता, हल्द्वानी : मोहल्ला स्वच्छता समिति के तहत कार्यरत छह कर्मचारियों की बर्खास्तगी के विरोध में देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी का आंदोलन जारी है। कर्मचारियों की बहाली की मांग को लेकर बबली देवी मंगलवार को दूसरे दिन भी अनशन पर डटी रहीं। आंदोलन को 19 दिन हो गए हैैं।

मंगलवार को धरना स्थल पर बोलते हुए प्रदेश अध्यक्ष राहत मसीह ने कहा कि कर्मचारियों की इस तरह की अनदेखी निराश करने वाली है। शहर की सफाई जैसी बुनियादी जिम्मेदारी संभालने वाले कर्मचारियों की उपेक्षा निगम प्रशासन की अदूरदर्शिता को दिखाता है। राहत ने कहा कि जब तक बर्खास्त कर्मचारियों की कार्यबहाली नहीं होती आंदोलन जारी रहेगा। धरना देने वालों में अनिल भारती, चौधरी अशोक, विजय, आशीष, विश्वास, विजय पाल, रवि चिंडालिया, विशाल, रोहित, वीरेंद्र, मंजू, कृष्णा, अनीता, विमला, राजेश, अर्जुन, अरुण, दिनेश चौधरी, राजेश, रवि राज आदि शामिल रहे। 

पीएफ, साप्ताहिक अवकाश के लिए दूसरे दिन भी धरना 

हल्द्वानी : संविदा कर्मचारियों को भविष्य निधि (पीएफ), साप्ताहिक अवकाश व शैक्षिक योग्यता के आधार पर पदोन्नति देने समेत 11 सूत्रीय मांगों को लेकर उत्तरांचल स्वच्छकार कर्मचारी संघ का धरना मंगलवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। नगर निगम परिसर में धरना देते कर्मचारियों ने कहा कि कई बार समझौता होने के बाद भी कर्मचारियों की जायज मांगें पूरी नहीं की जा रही। 12 अक्टूबर को मेयर डा. जोगेंद्र रौतेला ने उचित कार्यवाही का आश्वास दिया था। जिस दिशा में काम नहीं हुआ। संगठन के हल्द्वानी शाखा महामंत्री सुनील चौधरी ने कहा कि जल्द मांग पूरी नहीं होती तो संगठन उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगा। धरना देने वालों में प्रदेश अध्यक्ष रामअवतार राजौर, उपाध्यक्ष सुरेश लाला, जिलाध्यक्ष विनय पाल, प्रदीप पवार, नीरज नैथानी, योगेश राजौर, श्याम, जगदीश, मीरा चिंडालिया, सोनी आदि शामिल रहे।