भारतीय जमीन से सेटेलाइट लॉन्च करने वाली पहली प्राइवेट कंपनी होगीः मित्तल

 

कंपनी की योजना 2022 के मध्य से OneWeb सेटेलाइट के जरिए देश में कनेक्टिविटी देने की शुरुआत करने की है।

की सब्सिडियरी OneWeb इसरो की फैसिलिटी के जरिए भारतीय जमीन से सेटेलाइट लॉन्च करने वाली पहली प्राइवेट कंपनी होगी। Bharti Enterprises के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी।

नई दिल्ली, पीटीआइ। Bharti Group की सब्सिडियरी OneWeb इसरो की फैसिलिटी के जरिए भारतीय जमीन से सेटेलाइट लॉन्च करने वाली पहली प्राइवेट कंपनी होगी। Bharti Enterprises के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी। स्पेस और सेटेलाइट कंपनियों के संगठन इंडियन स्पेस एसोसिएशन की शुरुआत के मौके पर मित्तल ने कहा कि कंपनी की योजना 2022 के मध्य से OneWeb सेटेलाइट के जरिए देश में कनेक्टिविटी देने की शुरुआत करने की है।

मित्तल ने कहा, ''इंडियन स्पेस मार्केट में कॉमर्शियल पोजिशन लाने वाली OneWeb पहली कंपनी होगी।''

उन्होंने कहा OneWeb भारत की जमीन से सेटेलाइट्स को लॉन्च करने के लिए इसरो के जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल मार्क III रॉकेट्स का इस्तेमाल करेगी।

मौजूदा समय में स्पेस में OneWeb के 322 सेटेलाइट्स स्पेस में हैं।

मित्तल ने कहा कि कई बड़े देशों ने स्पेस सेक्टर में त्वरित प्रयास किए हैं। सरकार के सपोर्ट के बिना उनका मुकाबला नहीं किया जा सकता है।सुनील भारती मित्तल ने कहा, ''हमारे द्वारा की गई इस नई पहले के बाद मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि अधिक अंतरराष्ट्रीय ग्राहक एशिया में इसरो के पास आएंगे। हमारा भविष्य बहुत अच्छा होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमें राह दिखा रहे हैं। अब इंडस्ट्री के कदम उठाने का समय है।''

इससे पहले पीएम मोदी ने इंडियन स्पेस एसोसिएशन की शुरुआत के मौके पर कहा, ''हमारा स्पेस सेक्टर, 130 करोड़ देशवासियों की प्रगति का एक बड़ा माध्यम है। हमारे लिए स्पेस सेक्टर यानी, सामान्य मानवी के लिए बेहतर मैपिंग, इमेजिंग और connectivity की सुविधा! हमारे लिए स्पेस सेक्टर यानी, entrepreneurs के लिए शिपमेंट से लेकर डिलीवरी तक बेहतर स्पीड।''

उन्होंने कहा, ''आज जितनी निर्णायक सरकार भारत में है, उतनी पहले कभी नहीं रही। Space Sector और Space Tech को लेकर आज भारत में जो बड़े Reforms हो रहे हैं, वो इसी की एक कड़ी है। मैं इंडियन स्पेस एसोसिएशन – इस्पा के गठन के लिए आप सभी को एक बार फिर बधाई देता हूं, अपनी शुभकामनाएं देता हूं।''