बतौर मेंटोर महेंद्र सिंह धोनी की वापसी से भारतीय टीम को ICC T20 World Cup 2021 में क्या मिलेगा फायदा?

 

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (फाइल फोटो)

 भारतीय टीम ने महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की कप्तानी में 2007 में पहला टी20 विश्व कप जीता। उसके बाद 2011 का एकदिवसीय विश्व कप और आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी 2013 भी अपने नाम किया।

भारत में क्रिकेट एक त्योहार की तरह है और जब विश्व कप शुरू होता है तो हर किसी के अंदर क्रिकेट का बुखार चढ़ ही जाता है। यह ऐसा नशा है, जिसके आगे भूख-प्यास सब मिट जाती है। 2011 एकदिवसीय विश्वकप में जब भारतीय टीम ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में 1984 के बाद दूसरी बार वर्ल्ड कप ट्रॉफी जीता, तो उसके बाद से क्रिकेट को लेकर नजरिया हर किसी का बदल गया। क्रिकेट प्रेमियों को विश्वास होने लगा कि भारत क्रिकेट में सबसे बड़ी ताकत के रूप में उभर रहा है। ये चीज आज भी हम भारतीय टीम में देखते हैं।

ऐसा कहा जाता है कि सन 2000 जब सौरभ गांगुली ने टीम की कमान अपने हाथ में ली, तब से भारतीय टीम बैकफुट की जगह फ्रंटफुट पर खेलने लगी। खिलाड़ियों में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका जैसी बड़ी टीम के साथ खेलते समय आत्मविश्वास झलकने लगा। खिलाड़ियों में ऊर्जा भरने का काम जो सौरभ गांगुली ने शुरू किया था, उसे आगे चलकर महेंद्र सिंह धोनी ने जारी रखा। धोनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम का कायाकल्प कर दिया। उन्होंने ऐसी टीम तैयार की, जो न केवल बैटिंग और बॉलिंग में जबरदस्त थी, बल्कि फील्डिंग भी उच्च स्तर का था।

jagran

भारतीय टीम ने महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की कप्तानी में 2007 में पहला टी20 विश्व कप जीता। उसके बाद 2011 का एकदिवसीय विश्व कप और आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी 2013 भी अपने नाम किया। KOO ऐप पर KOO करके आप बताइए कि सौरभ गांगुली से लेकर महेंद्र सिंह धोनी तक भारतीय क्रिकेट के संबंध आपके जेहन में कौन सी यादें हैं, जो आपको आज भी याद है।

हम सब जानते हैं कि महेंद्र सिंह धोनी अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी के लिए बहुत लोकप्रिय हैं। लेकिन इससे भी ज्यादा उन्होंने लोकप्रियता अपनी कप्तानी से हासिल की है। वह एक बेहतर और कूल कप्तान हैं, इसके लिए उन्हें सालों तक याद किया जाएगा। बतौर खिलाड़ी और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के योगदान को देखते हुए टी20 वर्ल्ड कप 2021 के लिए हाल ही में उन्हें भारतीय टीम का मेंटोर बनाया गया। उनके मेंटोर बनने से टीम और नए खिलाड़ी उनके अनुभव का बेहतर तरीके से फायदा उठा सकते हैं। KOO ऐप पर KOO करके बताइए कि बतौर मेंटोर महेंद्र सिंह धोनी की वापसी से भारतीय टीम को आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 (ICC T20 World Cup 2021) में कैसे फायदा मिलेगा।

jagran

खेल कोई सा भी हो मैदान और मैदान के बाहर योजना बनाना बहुत जरूरी है और इस मामले में महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) काफी आगे हैं। टी20 विश्व कप में वह भले ही मैदान पर नहीं होंगे, लेकिन उनकी पूरी ऊर्जा इस बात पर केंद्रित होगी कि कैसे अपने मार्गदर्शन और सपोर्ट से टीम की शक्ति को बढ़ाया जाए, ताकि हर मैच जीता जा सके। आप बताइए आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 (ICC T20 World Cup 2021) के दौरान भारतीय टीम के नए खिलाड़ियों को उनसे क्या सीखना चाहिए। KOO ऐप पर KOO करके बताइए|

jagran

वैसे KOO आपके लिए क्रिकेट उत्सव लेकर आया है। इसमें शामिल होने पर आपको आकर्षक पुरस्कार जीतने का मौका मिलेगा। दरअसल, क्रिकेट प्रेमियों के लिए भारतीय बहु-भाषी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, लेकर आया है #SabseBadaStadium ‘KOOक्रिएटर कप'| इस रोमांचक प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए टी 20 विश्व कप 2021 के दौरान मैचों से संबंधित आकर्षक मीम्स, मुहावरे , वीडियो या रीयल-टाइम #Koomentary साझा कर सकते हैं और इस प्रतियोगिता में भाग लेने से आपको रोमांचक पुरस्कार जीतने का मौका मिलेगा।

‘KOO क्रिएटर कप’ में भाग लेने के लिए:

KOO ऐप डाउनलोड करें और अपना एक हैंडल बनाएं| प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कई भाषाओं में मीम्स, वीडियो आदि के रूप में प्रतिदिन क्रिकेट से संबंधित सामग्री को ऐप पर पोस्ट करें। अधिकतम दर्शकों की संख्या सुनिश्चित करने के लिए मैचों के दौरान साझा की गई सामग्री को समयबद्ध करना होगा| अपने कूज़(Koos) को अपने सोशल सर्कल पर शेयर करने के साथ साथ, लोगों को KOO पर आपके हैंडल को फॉलो करने के लिए प्रोत्साहित करना होगा।