यात्री सेवा समिति ने पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन का किया निरीक्षण, Wi-Fi में सुधार का मिला सुझाव

 

आपत्तिजनक पुस्तकें बेचने वाले विक्रेता पर किया जुर्माना

यात्री सेवा समिति (पीएससी) के अध्यक्ष रमेश चंद्र रत्न ने अन्य सदस्यों के साथ पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। आपत्तिजनक पुस्तकें बेचने वाले स्टाल और नियमों का पालन नहीं करने पर खानपान के स्टाल पर जुर्माना किया गया।

नई दिल्ली। यात्री सेवा समिति (पीएससी) के अध्यक्ष रमेश चंद्र रत्न ने अन्य सदस्यों के साथ पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। आपत्तिजनक पुस्तकें बेचने वाले स्टाल और नियमों का पालन नहीं करने पर खानपान के स्टाल पर जुर्माना किया गया। अध्यक्ष ने सतर्कता दिवस के अवसर पर स्टेशन पर मौजूद रेल कर्मियों को भ्रष्टाचार दूर करने की शपथ दिलाई।

jagran

समिति के सदस्यों ने पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म, प्रतीक्षालय, खानपान के स्टाल व अन्य स्थानों की जांच की। एक नंबर प्लेटफार्म पर स्थित बुक स्टाल पर बेचने के लिए आपत्तिजनक किताबें रखी हुई मिली। अध्यक्ष ने 10 हजार रुपये का जुर्माना करने के साथ ही भविष्य में इस तरह की किताबें या सामग्री नहीं बेचने की हिदायत दी। उन्होंने प्रतीक्षालय में खानपान के स्टाल पर -बिल नहीं तो भुगतान नहीं का- साइनेज नहीं लगा होने और शौचालय में गंदगी मिलने पर नाराजगी। वहां का काम देखने वाले ठेकेदार पर 30 हजार रुपये का जुर्माना किया गया।

सदस्यों ने प्लेटफार्म पर मौजूद यात्रियों व कुलियों से बातचीत की। अधिकांश यात्रियों ने रेलवे स्टेशनों व ट्रेनों में पहले की तुलना में सफाई व्यवस्था व अन्य सुविधाओं में सुधार होने की बात कही। अध्यक्ष ने रेलवे अधिकारियों को स्टेशन पर वाई-फाई कनेक्टिविटी में सुधार करने, स्वजनों से दूर होकर स्टेशन पर पहुंचने वाले बच्चों को रखने के लिए बनाए गए स्थान में सुविधाएं बढ़ाने को कहा। इस मौके पर दिल्ली से मोहन लाल गिहारा सहित 14 सदस्य व रेलवे अधिकारी मौजूद थे।

पीएससी के सदस्यों की रेलवे बोर्ड में रेल अधिकारियों के साथ बैठक भी हुई। उन्होंने अधिकारियों के सामने उठाए गए मुद्दों पर उचित कार्यवाही करने व उसकी लिखित जानकारी देने की मांग की। इसके साथ ही लोकल ट्रेनें चलाने, खानपान व अन्य स्टाल पर तैनात कर्मचारियों को नियमित मानदेय देने, रेलवे के कामकाज व उपलब्धियों को प्रचारित करने की मांग की गई।