कश्मीरी छात्रों की याचिका पर उच्च न्यायालय में 10 दिसंबर को होगी सुनवाई, जानिए क्यों हुआ है आगरा में देशद्रोह का मुकदमा

 

देशद्रोह व साइबर आतंकवाद के आरोप में 28 अक्टूबर को भेजा था जेल।
देशद्रोह व साइबर आतंकवाद के आरोप में 28 अक्टूबर को भेजा था जेल। मुकदमे की विवेचना अन्य जिले में स्थानांतरित कराने को लेकर दायर की है याचिका। उच्च न्यायालय में अभियोजन ने मांगा था समय 10 दिसंबर को होगी अगली सुनवाई।

आगरा, संवाददाता। कश्मीरी छात्रों की ओर से अपनी विवेचना अन्य जिले में स्थानांतरित करने की मांग को लेकर उच्च न्यायालय में दायर याचिका पर अब 10 दिसंबर को सुनवाई होगी। बुधवार को याचिका पर सुनवाई होनी थी। अभियोजन द्वारा जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगने पर उच्च न्यायालय ने अगली सुनवाई 10 दिसंबर नियत की है।

दुबई में 24 अक्टूबर को टी-20 विश्वकप में भारत-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच में हुआ था। आरोप है कि पाकिस्तान की जीत पर आरबीएस बिचपुरी इंजीनियरिंग में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों अरशद युसूफ व शाैकत अहमद गनी निवासी थाना चाडोरा जिला बड़गांव और इनायत शेख अलताफ निवासी थाना हाजिन जिला बांदीपोरा ने पाक की जीत का जश्न मनाया था। जिस पर कालेज प्रबंधन ने उन्हें निलंबित कर दिया था।

कश्मीरी छात्रों का वाट्सएप स्टेटस व चैटिंग इंटरनेट मीडिया में वायरल हो गई थी। जिस पर भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा ने बिचपुरी परिसर में प्रदर्शन किया था। भाजयुमाे पदाधिकारी गौरव राजावत की तहरीर पर पुलिस ने तीनों छात्रों के खिलाफ मुकदमा राष्ट्रद्रोह व साइबर आतंकवाद की धारा में मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल दिया।

कश्मीरी छात्रों की पैरवी अधिवक्ता दीपक चौधरी व मधु चतुर्वेदी कर रहे हैं। अधिवक्ता दीपक चौधरी ने बताया कि छात्रों की ओर से अपने मुकदमे की विवेचना किसी अन्य जिले स्थानांतरित कराने के लिए उच्च न्यायालय इलाहाबाद में याचिका प्रस्तुत की गई थी। जिस पर बुधवार को सुनवाई हुई। अभियोजन की ओर से अपना जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगने पर उच्च न्यायालय ने याचिका पर अगली सुनवाई अब 20 दिसंबर नियत की है।

अब तक का घटनाक्रम

24 अक्टूबर: टी-विश्चकप मैच में भारत पर पाक की जीत का जश्न मनाने का आरोप

25 अक्टूबर: कालेज प्रबंधन ने आरोपित कश्मीरी छात्रों को निलंबित किया

26 अक्टूबर: कश्मीरी छात्रों की वाट्सएप चैटिंग व स्टेटस इंटरनेट मीडिया में वायरल होने पर जगदीशपुरा थाने में साइबर आतंकवाद समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज

27 अक्टूबर: आरोपित तीनों छात्रों को पुलिस ने गिरफ्तार किया।

28 अक्टूबर: छात्रों को विशेष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में प्रस्तुत किया गया। अदालत ने आरोपितों को 11 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश किए।

29 अक्टूबर: छात्र इनायत अलताफ शेख के स्वजन आगरा पहुंचे।

20 नवंबर: कश्मीरी छात्रों की ओर से मुकदमे की विवेचना अन्य जिले स्थानांतरित करने की मांग को लेकर उच्च न्यायालय में याचिका दायर

24 नवंबर: उच्च न्यायलय ने याचिका पर अगली सुनवाई 10 दिसंबर को नियत की।