बिहार पंचायत चुनाव 2021: 13 नवंबर को होगी छठे चरण की काउंटिंग, गोपालगंज में मतगणना के लिए किए गए ये इंतजाम

 

Panchayat Chunav Result: गोपालगंज में पंचायत चुनाव के छठे चरण की काउंटिंग 13 नंवबर को होगी। सांकेतिक तस्वीर
 पंचायत चुनाव के छठे चरण के लिए बीते तीन नवंबर को मतदान हुआ था। इसकी काउंटिंग 13 नवंबर को होगी। गोपालगंज में दोनों प्रखंडों की मतों की गणना अलग-अलग पांच-पांच हाल में की जाएगी।

गोपालगंज,  संवाददाता। बिहार पंचायत चुनाव के छठे चरण में गत तीन नवंबर को जिले के फुलवरिया व उचकागांव प्रखंड में मतदान के बाद 13 नवंबर को मतों की थावे डायट में बनाए गए वज्रगृह में प्रारंभ होगी। सुबह आठ बजे से होने वाली मतगणना को लेकर तैयारियां प्रारंभ कर दी गई है। मतों की गणना के लिए शुक्रवार की सुबह मतगणना कर्मी योगदान करेंगे। दोनों प्रखंडों की मतों की गणना अलग-अलग पांच-पांच हाल में की जाएगी। मतगणना प्रारंभ होने के एक घंटे के बाद सुबह नौ बजे तक पहला परिणाम प्राप्त होने की संभावना है। मतगणना को लेकर फुलवरिया व उचकागांव प्रखंड के लिए पांच-पांच अलग-अलग कक्ष बनाए गए हैं। 

 छठे चरण में उचकागांव व फुलवरिया प्रखंड में तीन नवंबर को कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान कराया गया था। चार नवंबर से दीपावली से लेकर छठ पूजा तक को देखते हुए आयोग ने इस चरण के मतों की गणना का कार्य 13 नवंबर को करने का निर्देश जारी किया है। ऐसे में इन प्रखंडों के सभी पदों के मतों की गणना को लेकर 12 नवंबर को कर्मी थावे डायट में योगदान करेंगे। प्रशासनिक स्तर पर दो प्रखंडों की एक साथ मतगणना को देखते हुए पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध करने का निर्देश जारी किया है। गणना हाल के अंदर बगैर परिचय पत्र के किसी भी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक रहेगी। गणना कार्य में लगने वाले तमाम कर्मियों को मतगणना के दिन पांच बजे के पूर्व गणना स्थल पर पहुंचने का निर्देश दिया गया है। ताकि पांच बजे गणना कर्मियों का रैंडमाइजेशन करने के बाद उन्हें गणना कार्य में लगाया जा सके। प्रशासनिक स्तर पर छठ पूजा के बाद दोनों प्रखंड की मतगणना को देखते हुए यातायात व्यवस्था पर नियंत्रण के लिए पुलिस कर्मियों की तैनाती का निर्देश दिया गया है।

80-80 टेबल पर होगी मतों की गणना

उचकागांव व फुलवरिया प्रखंड में मतों की मतगणना के लिए पांच-पांच हाल में होगी। प्रत्येक हाल में 16-16 टेबल लगाए गए हैं। दोनों प्रखंड की गणना का कार्य 80-80 टेबल पर कराया जाएगा। उचकागांव प्रखंड में कुल 14 व फुलवरिया प्रखंड में कुल 12 पंचायत होने के कारण दोनों प्रखंडों के मतगणना परिणाम 13 नवंबर की शाम तक सभी पदों का चुनाव परिणाम आने की संभावना है। प्रशासनिक स्तर पर मतगणना के लिए गणना टेबल के अलावा मतगणना हाल में एक आरओ टेबल भी लगाया जाएगा। ईवीएम से होने वाली मतों की गणना में प्रत्येक मतगणना टेबल पर एक-एक गणना प्रेक्षक, गणना सुपरवाइजर तथा गणना सहायक की तैनाती की गई है। लेकिन पंच व सरपंच के पदों की मतगणना के लिए लगाए जाने वाले कुल 16 टेबल में प्रत्येक टेबल पर एक गणना प्रेक्षक, एक गणना सुपरवाइजर तथा दो गणना सहायकों की तैनाती की गई है। रिजर्व में भी गणना सुपरवाइजर व गणना सहायकों को रखा जाएगा। ताकि किसी कर्मी के बीमार होने अथवा अन्य कोई विकट परिस्थिति पैदा होने पर रिजर्व कर्मियों में से कर्मी की तैनाती की जा सके।

प्रत्याशी को केवल एक एजेंट रखने की अनुमति 

मतगणना केंद्र पर मतों की गिनती का काम भले ही कुल 80-80 टेबल पर होगी। लेकिन कोई भी प्रत्याशी केवल एक मतगणना एजेंट के साथ ही मतगणना केंद्र के अंदर प्रवेश कर सकेंगे। प्रत्याशी और एजेंट के अलावा किसी अन्य को प्रवेश नहीं मिलेगा। पूरी मतगणना सीसीटीवी की निगरानी में होगी। संबंधित पंचायत की मतगणना शुरु होने से पहले ही उसके प्रत्याशी और एजेंट को अंदर बुलाया जाएगा। 

ईवीएम के लिए हर टेबल पर तीन मतगणना कर्मी 

पंचायत चुनाव की मतगणना में ईवीएम वाले टेबल पर तीन-तीन तथा कर्मियों की तैनाती की गई है। ईवीएम से गिनती का दोनों प्रखंड में 64-64 टेबल लगा है। हर टेबल पर एक मतगणना सहायक, एक सुपरवाइजर और एक प्रेक्षक की तैनाती की गई है। इसके अलावा दोनों प्रखंड के बैलेट पेपर के मतों की गिनती के लिए 16-16 टेबल लगाया गया है।

बिना पास किसी को नहीं मिलेगा प्रवेश 

 मतगणना को लेकर थावे डायट में बने वज्रगृह की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पोल्ड ईवीएम पहुंचने के बाद तीन नवंबर की शाम से ही यहां कड़ी पहरेदारी प्रारंभ की जा रही है। अलावा इसके बड़ी संख्या में अधिकारी की भी तैनाती इसके लिए की गई है। मतगणना केंद्र के अंदर बिना पास किसी को प्रवेश नहीं मिलेगा। सुबह पांच बजे मतगणना कर्मी को प्रवेश कराने के बाद, प्रत्याशी और उनके एजेंट को प्रवेश दिया जाएगा। इसके लिए उन्हें पहले से प्रमाण पत्र निर्गत किया गया है।