दिल्ली, मुंबई, गुजरात व राजस्थान के ट्रेन यात्रियों को रेलवे ने दिया तोहफा, 26 नवंबर से चलेगी ये ट्रेन

Railway News:दिल्ली, मुंबई, गुजरात व राजस्थान के ट्रेन यात्रियों को रेलवे ने दिया तोहफा, 26 नवंबर से चलेगी ये ट्रेन
हजरत निजामुद्दीन से मुंबई के बांद्रा टर्मिनल के बीच चलने वाली युवा साप्ताहिक सुपरफास्ट एक्सप्रेस 26 नवंबर से पटरी पर लौटेगी। इसके चलने से देश की राजधानी दिल्ली के साथ-साथ मुंबई गुजरात व राजस्थान जाने वाले यात्रियों को लाभ होगा।

नई दिल्ली । दिल्ली में हजरत निजामुद्दीन से मुंबई के बांद्रा टर्मिनल के बीच चलने वाली युवा साप्ताहिक सुपरफास्ट एक्सप्रेस 26 नवंबर से पटरी पर लौटेगी। कोरोना संक्रमण की वजह से बंद हुई अधिकांश ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया है, लेकिन युवा एक्सप्रेस के शुरू होने का इंतजार था। इसके चलने से देश की राजधानी दिल्ली के साथ-साथ मुंबई, गुजरात व राजस्थान जाने वाले यात्रियों को लाभ होगा। युवा साप्ताहिक एक्सप्रेस 26 नवंबर से प्रत्येक शुक्रवार को बांद्रा टर्मिनल से शाम साढ़े पांच बजे रवाना होगी और अगले दिन पूर्वाह्न सवा दस बजे हजरत निजामुद्दीन पहुंचेगी। हजरत निजामुद्दीन से यह ट्रेन 27 नवंबर से प्रत्येक शनिवार को चलेगी। शाम साढ़े चार बजे हजरत निजामुद्दीन से प्रस्थान करके अगले दिन सुबह सवा नौ बजे बांद्रा टर्मिनल पहुंचेगी। रास्ते में इसका ठहराव सूरत, बडोदरा, रतलाम, कोटा और मथुरा में होगा। 

उत्तर रेलवे के सभी ट्रेनों में जैविक शौचालय: आशुतोष गंगल

उधर, सफाई व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए उत्तर रेलवे के सभी ट्रेनों में जैविक शौचालय लगाए गए हैं। यह जानकारी उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष एम वेंकटेशन के साथ बैठक में दी। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशनों की सफाई में मशीन के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जा रहा है जिससे कि सफाई कर्मचारियों को सुविधा हो। सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का दौरा किया। उन्होंने स्टेशन पर स्वच्छता, सफाई कर्मचारियों को उपलब्ध सुविधाएं तथा सिर पर मैला ढोने की कुप्रथा के उन्मूलन के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी ली। अधिकारियों को सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा और उनके स्वास्थ्य पर ध्यान देने की सलाह दी। स्टेशन का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने दिल्ली मंडल के कार्यालय में उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक के साथ बैठक की।

महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने बताया कि सिर पर मैला ढोने की परंपरा के उन्मूलन तथा इस कार्य में लगे हुए सफाई कर्मचारियों के पुनर्वास कार्यक्रम को सफल बनाने में उत्तर रेलवे महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, अब किसी भी रेल मंडल में यह प्रथा नहीं है। रेल पटरी पर कहीं गंदगी न फैले इसके लिए सभी ट्रेनों में परंपरागत शौचालय को जैविक शौचालय में बदला गया है। इससे सफाई कर्मचारियों को भी सुविधा होती है। दिल्ली मंडल में नियमित और संविदा पर कुल 3606 सफाई कर्मचारी हैं। कोरोना काल में इन सभी का ध्यान रखा गया। संविदा पर काम करने वाले कर्मचारियों को राशन उपलब्ध कराया गया। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर काम करने के लिए सभी जरूरी उपकरण दिए जाते हैं। इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक डिंपी गर्ग व अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Popular posts
अयान मुखर्जी ने शेयर कीं 'ब्रह्मास्त्र' की शूटिंग की 5 तस्वीरें, तीसरी तस्वीर से लीक हुआ रणबीर कपूर के पौराणिक किरदार का लुक?
Image
दिल्ली में बर्बाद हो चुकी फसल के लिए किसानों को मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार, भाजपा ने लिया क्रेडिट
Image
खुद को पानी और आग आग का मिश्रण मानती हैं ईशा सिंह, 'सिर्फ तुम' से डेढ़ साल बाद लौटीं टीवी पर
Image
आमना शरीफ ने ब्लैक ब्रालेट पहन बीच पर 'बोल्ड' अंदाज में किया पोज, तस्वीरें देख ट्रोलर्स ने कहा, 'आप कहां की शरीफ है'
Image
सिर्फ 9 लाख रुपये में ग्रेटर नोएडा में पाएं अपना घर, जानिये- कीमत, ड्रा और पजेशन के बारे में
Image