पूर्वी दिल्ली से 45 लाख का बासमती चावल लदा ट्रक लेकर भाग गए थे चोर, तीन गिरफ्तार

 

45 लाख का बासमती चावल लदा ट्रक लेकर भाग गए थे, तीन गिरफ्तार
पूर्वी दिल्ली के ज्योति नगर इलाके से 2 नवंबर की रात 45 लाख रुपये मूल्य के नेचर पर्ल बासमती चावल लदे ट्रक चोरी करने के मामले में क्राइम ब्रांच ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

नई दिल्ली,  संवाददाता। पूर्वी दिल्ली के ज्योति नगर इलाके से 2 नवंबर की रात 45 लाख रुपये मूल्य के नेचर पर्ल बासमती चावल लदे ट्रक चोरी करने के मामले में क्राइम ब्रांच ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इनकी निशानदेही पर पुलिस ने नोएडा के सरफाबाद से चुराए गए सभी 610 बोरी चावल व ग्रेटर नोएडा से ट्रक बरामद कर लिया है। ट्रक के चालक ने कबाड़ी साथी के साथ मिलकर वारदात की साजिश रची थी। पुलिस अब फरार इन दोनों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

चावल अनलोड करने के बाद आरोपित ट्रक को कबाड़ी के हाथों बेचने की फिराक में थे, लेकिन इससे पहले पुलिस ने ट्रक को भी बरामद कर लिया। संयुक्त आयुक्त अपराध शाखा आलोक कुमार के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम चुनचुन यादव (खोड़ा, गाजियाबाद), मणिपाल (नोएडा सेक्टर-122) व मुन्ना शाह (नोएडा सेक्टर-20) है। चुनचुन यादव, नोएडा सेक्टर-6 में कबाड़ का काम करता है।

कोरोना में उसका कारोबार धीमा पड़ने पर छह माह पहले उसका परिचय लंबू से हुआ था। लंबू का भी कबाड़ का काम है। उसका आपराधिक पृष्ठभूमि है। दोनों ने ट्रक चालक मुहम्मद शकील के साथ मिलकर सामान लदा ट्रक चोरी करने की साजिश रची। एक नवंबर को लंबू ने चुनचुन यादव को बासमती लदा ट्रक के बारे में सूचना दी।

इसके लिए चुनचुन ने मणिपाल व मुन्ना शाह के जरिये सरफाबाद में एक कमरा किराये पर लिया। 2 नवंबर को आरोपितों ने ज्योति नगर में रेलवे ब्रिज और नंद नगरी से चावल लदा ट्रक चोरी कर लिया। ट्रक में 750 बोरी नेचर पर्ल बासमती चावल लदा था। ट्रक को गुजरात जाना था। जांच से पुलिस को पता चला कि ट्रक को चोरी करने की साजिश के पीछे चालक शकील का हाथ था।

3 नवंबर को सरफाबाद गांव नोएडा से पुलिस टीम ने पहले चुनचुन यादव को गिरफ्तार कर लिया। वहां एक कमरे से चावल बरामद कर लिया गया। बाद में उससे पूछताछ के बाद मणिपाल और मुन्ना शाह को भी नोएडा से गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में चोरी के ट्रक को ग्रेटर नोएडा में सुनसान जगह से बरामद कर लिया गया। तीनों ने पूछताछ में बताया कि शकील और खेड़ा कलां, अलीपुर निवासी लंबू ने वारदात की साजिश रची थी। लंबू को पहले भी इसी तरह के मामलों में समयपुर बादली पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। शकील ने चावल लदे ट्रक चुनचुन यादव और मणिपाल को सौंप दिया था।