गोरखपुर के डीएम की अनोखी पहल, प्राइमरी स्कूलों में लगेगा रीडिंग मेला


गोरखपुर के डीएम व‍िजय क‍िरण आनंद। - जागरण
प्राइमरी श‍िक्षा की दशा सुधारने के ल‍िए गोरखपुर के डीएम विजय किरन आनंद ने अनोखी पहल की है। डीएम के निर्देश पर 23 नवंबर को सभी परिषदीय व कस्तूरबा विद्यालयों में मेले का आयोजन क‍िया जाएगा। मेला सुबह नौ बजे से शुरू होकर शाम तक चलेगा।

गोरखपुर,  संवाददाता। बच्चाें में किताबें पढ़ने की रुचि पैदा करने के उद्देश्य से जिले के सभी परिषदीय व कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में रीडिंग मेले का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए ब्लाकवार अधिकारी नामित किए गए हैं, जो न सिर्फ दो परिषदीय व संबंधित कस्तूरबा विद्यालयों का औचक निरीक्षण बल्कि छात्राओं के उत्साहवर्धन एवं गुणवत्ता परीक्षण के उद्देश्य से नामित कस्तूरबा विद्यालयाें में उनके साथ दोपहर का भोजन करेंगे। 

सभी परिषदीय व कस्तूरबा विद्यालयों में होगा मेले का आयोजन

डीएम के निर्देश पर 23 नवंबर को सभी परिषदीय व कस्तूरबा विद्यालयों में मेले का आयोजन क‍िया जाएगा। मेला सुबह नौ बजे से शुरू होकर शाम तक चलेगा।

मेले को सफल बनाने के ल‍िए अध‍िकार‍ियों को दी गई ज‍िम्‍मेदारी

जिलाधिकारी विजय किरन आनंद ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए बीएसए सहित संबंधित अधिकारियों को निर्देश दे दिए हैं। मेले के दिन डीएम स्वयं नार्मल परिसर स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय खोराबार में मौजूद रहेंगे। जबकि शेष अन्य प्रशासनिक अधिकारी अपने-अपने नामित विद्यालयों में रहकर मेले के दौरान आयोजित होने वाली विभिन्न गतिविधियों समेत स्कूलों के निरीक्षण की जिम्मेदारी का निवर्हन करेंगे।

रीडिंग मेले में होंगी ये प्रमुख गतिविधियां

एनसीईआरटी की लाइब्रेरी बुक की प्रदर्शनी

छात्र-छात्राओं द्वारा किताबों का स्वतंत्र पाठ करना

छात्र-छात्राओं द्वारा समूह या जोड़ों में किताबें पढ़ना

छात्र-छात्राओं द्वारा पिक्चर बुक का उपयोग करना

बच्चों द्वारा कहानी या कविता पढ़ना

बच्चों को कहानी या कविता पढ़कर सुनाना

बच्चों द्वारा पहले से पढ़ी गई कहानी पर रोल प्ले करना

कहानियों पर चर्चा का अवसर देना

जिले के सभी परिषदीय प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, कंपोजित समेत सभी 20 कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में रीडिंग मेले के आयोजन की तैयारी शुरू कर दी गई है। मेले के सफल आयोजन के लिए सभी ब्लाकों के खंड शिक्षाधिकारियों को व जिला समन्वयक बालिका शिक्षा को आवश्यक निर्देश देते हुए जिम्मेदारी सौंप दी गई है। - रमेंद्र कुमार सिंह, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी।