अक्‍टूबर में फिर बढ़ी महंगाई, जानिए आंकड़ों में कितना आया उछाल

 

बता दें कि सरकार ने बीते हफ्ते ही पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती की है।
 महंगाई के आंकड़े जारी हो गए हैं। अक्‍टूबर महीने में महंगाई बढ़ी है। इसमें सितंबर महीने के मुकाबले बढ़ोतरी हुई है। सितंबर में यह आंकड़ा 4.35 फीसद था जो अक्‍टूबर में बढ़कर 4.48 फीसद हो गया।

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। महंगाई के आंकड़े जारी हो गए हैं। अक्‍टूबर महीने में महंगाई बढ़ी है। इसमें सितंबर महीने के मुकाबले बढ़ोतरी हुई है। सितंबर में यह आंकड़ा 4.35 फीसद था जो अक्‍टूबर में बढ़कर 4.48 फीसद हो गया। यह आंकड़ा Ministry of Statistics & Programme Implementation ने जारी किया है।

बता दें कि सरकार ने बीते हफ्ते ही पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती की है। इसका असर मुद्रास्फीति की दर पर पड़ेगा। RBI के मुताबिक महंगाई के नजरिए से यह बेहद सकारात्मक कदम है। आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक दिन पहले कहा था कि खाद्य मुद्रास्फीति अब नियंत्रण में आ चुकी है लेकिन मुख्य मुद्रास्फीति अभी ऊंचे स्तर पर बनी हुई है। पेट्रोल एवं डीजल पर उत्पाद शुल्क को कम करना मुद्रास्फीति के लिए बेहद सकारात्मक कदम है।

उन्होंने कहा कि भारत में मुद्रास्फीति मुख्य रूप से आपूर्ति पक्ष से जुड़े कारकों की वजह से है और सरकार ने इसे काबू में करने के लिए कदम उठाए हैं। आपूर्ति पक्ष से जुड़े कारकों खासकर दालों एवं खाद्य तेलों पर सरकार ने ध्यान दिया है। और हाल ही में पेट्रोल एवं डीजल पर उत्पाद शुल्क भी कम किया गया है। मुद्रास्फीति के लिहाज से ये सभी अच्छे संकेत हैं।

उनके मुताबिक मोटे तौर पर खाद्य मुद्रास्फीति अब नियंत्रण में दिख रही है। लेकिन अभी भी मुख्य मुद्रास्फीति ऊंचे स्तर पर बनी हुई है और यह एक नीतिगत चुनौती है। हम मुख्य मुद्रास्फीति पर बेहद करीबी निगाह रखे हुए हैं। ईंधन मुद्रास्फीति भी अभी ऊंचे स्तर पर है जिस पर आरबीआई की निगरानी बनी हुई है।