: स्कूल खोलने की तैयारी, जानिए कितने सुरक्षित माहौल में होगी बच्चों की कक्षा में वापसी

 

सम-विषम रोल नंबर से बुलाए जाएंगे छात्र
अभिभावकों से जहां बच्चों को स्कूल भेजने के लिए सहमति देने के लिए पीटीएम का आयोजन शुरू किया गया है तो वहीं स्कूलों में डेस्क व कक्षाओं में कोरोना के नियमों का पालन करवाने के इंतजाम किए जा रहे हैं।

नई दिल्ली,  संवाददाता। दिल्ली में स्कूल खुलने शुरू हो गए हैं। अब निगम भी स्कूल खोलने के लिए पूरी तरह तैयार है। इसके लिए खास तैयारियां भी की जा रही हैं ताकि बच्चे कक्षा में वापस जब आएं तब उन्हें पूरी तरह सुरक्षित माहौल मिले। इसके लिए स्कूल प्रशासन के साथ परेंट्स भी पूरी तरह निगरानी रख रहे हैं। पहली कक्षा से आगे की कक्षाओं के स्कूल खुलने की अनुमति मिलने के बाद निगम के स्कूलों में युद्धस्तर पर बच्चों को बुलाने की तैयारी की जा रहा है। अभिभावकों से जहां बच्चों को स्कूल भेजने के लिए सहमति देने के लिए पीटीएम का आयोजन शुरू किया गया है तो वहीं स्कूलों में डेस्क व कक्षाओं में कोरोना के नियमों का पालन करवाने के इंतजाम किए जा रहे हैं। चूंकि हर कक्षा के 50 प्रतिशत विद्यार्थियों को ही प्रवेश दिया जाएगा। इसलिए सम-विषम की तरह बच्चों को बुलाया जाएगा।

त्योहार के कारण नहीं खुल रहे स्कूल

दक्षिणी निगम की शिक्षा समिति की चेयरपर्सन नीतिका शर्मा ने बताया कि हम स्कूल खोलने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। त्योहारों के चलते छुट्टियां चल रही हैं। ऐसे में छठ पर्व के बाद ही पूरी तरह स्कूल सुचारु रूप से चल पाएंगे। ऐसे में हम स्कूलों में कोरोना से बचाव के लिए पूरी तैयारी कर रहे हैं। डेस्क पर निशान बनाए जा रहे हैं, जहां पर विद्यार्थियों को बैठाया जाना है। इसके साथ ही मिड-डे मील वितरण में पूरी सावधानी बरती जाए, इसके लिए माकडिल भी की जा रही है। वहीं, सैनिटाइजर व मास्क की पूरी व्यवस्था हो, स्कूलों में इसके लिए कहा गया है।

35 प्रतिशत अभिभावकों ने दी सहमति

नीतिका शर्मा के अनुसार अभिभावकों से आनलाइन पीटीएम के माध्यम से भी बच्चों को स्कूल भेजने की सहमति ली जा रही है। इसमें अब तक 35 प्रतिशत के करीब अभिभावकों ने सहमति दे दी है। उन्होंने बताया कि अभिभावक खुश हैं कि इतने समय बाद स्कूल खुल रहे हैं। ऐसे में वह अभी अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए उत्सुक हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी की हमारी जिम्मेदारी है। इसलिए स्कूल में कोरोना के दिशा-निर्देशों के पालन में कोई लापरवाही न हो, इसके सख्त निर्देश दिए गए हैं।

चलेगा दाखिला अभियान

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के शिक्षा समिति के चेयरमैन आलोक शर्मा ने बताया कि निगम स्कूलों को खोलने के साथ नए विद्यार्थियों को दाखिले देने का अभियान फिर चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि कोई भी ऐसा बच्चा न रहे, जो शिक्षा से वंचित हो। इसलिए झुग्गी बस्तियों से लेकर अनधिकृत कालोनियों में घूम-घूमकर विशेष दाखिला अभियान शुरू किया जाएगा। स्कूल खुलने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद यह दाखिला अभियान चलेगा।