देखिए कुमार विश्वास को जब खुले मंच से फिर मिला राजनीति का ऑफर, इधर आ जाओ, कैसी रही प्रतिक्रिया

 

ये वीडियो राजधानी लखनऊ का बताया जा रहा है।
दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ जुड़कर कुमार विश्वास ने काफी काम किया था राजनीति को एक नई दिशा की ओर ले जाना चाहते थे मगर परिस्थितियां बदली और फिर आम आदमी पार्टी के साथ जो लोग शुरुआत से जुड़े थे वो सभी धीरे-धीरे करके अलग होते चले गए।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। देश के जाने-माने कवि कुमार विश्वास को एक बार फिर से खुले मंच से राजनीति में आने का न्योता मिला है। इस बार उन्होंने खुद से किसी राजनीतिक दल का दामन न थामने का मन बना रखा है मगर कुछ राजनीतिक दल अभी भी उनको अपने साथ मिलाना चाहते हैं जिससे कुमार की फैन फालोइंग का उनको लाभ मिल सके। दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ जुड़कर कुमार विश्वास ने काफी काम किया था, राजनीति को एक नई दिशा की ओर ले जाना चाहते थे मगर परिस्थितियां बदली और फिर आम आदमी पार्टी के साथ जो लोग शुरुआत से जुड़े थे वो सभी धीरे-धीरे करके अलग होते चले गए। इनमें कई क्षेत्र से जुड़े लोगों के नाम शामिल हैं।

आम आदमी पार्टी से अलग होने के बाद कुमार विश्वास ने किसी दूसरी राजनीतिक पार्टी की ओर रूख नहीं किया वो अपने कविता पाठ में दुबारा से रम गए। अब भी गाहे बगाहे आप से जुड़े होने की वजह से उन पर भी कटाक्ष हो जाता है। कई बार कुमार विश्वास खुद भी मंच से अपने पुराने समय और साथियों को याद करके कुछ न कुछ कह ही देते हैं। उनके मन में भी देश की राजनीति को लेकर नाराजगी रहती है।

खैर इन दिनों इंटरनेट मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल है, ये वीडियो राजधानी लखनऊ का बताया जा रहा है। वीडियो प्रो.रामगोपाल यादव जी के 75 वें उत्सव का है। इसमें सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव, उनके सुपुत्र और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, डॉ.उदय प्रताप सहित अन्य लोग मौजूद थे। मंच पर एक डॉ.उदय प्रताप बैठे थे। इसी बीच वीडियो में वो बोलते हुए सुने जाते हैं कि शब्द नेता जी के, बोल डॉ उदय प्रताप के। खुले मंच से खुला ऑफर...इधर आ जाओ