शिक्षक के घर का ताला तोड़कर दिनदहाड़े चोरी, डेढ़ साल के अंदर दो बार हुई वारदात

 


चोरी के बाद शिक्षक के घर में बिखरे सामान। जागरण
मृत्युंजय गोप ने बताया कि पत्नी रूपाली गोप प्राथमिक विद्यालय रायपुर में शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं जो मायके गई हुई थी। वही मैं मध्य विद्यालय सिकरा में ड्यूटी करने के बाद जब मैं घर लौटा तो देखा कि मेरा घर का ताला टूटा हुआ था।

पोटका,  संवाददाता।  पूर्वी सिंहभूम के पोटका थाना क्षेत्र के जुड़ी पंचायत के जुड़ी में लगातार हो रही चोरी की घटनाओं से लोग दहशत में हैं। वही पोटका पुलिस द्वारा अब तक किसी भीचोरी की घटना का खुलासा नहीं होने से चोरों के हौसले बुलंद है। शिक्षक मृत्युंजय गोप एवं उनकी पत्नी रूपाली गोप दोनों शिक्षक हैं  जो सुबह को अपनी - अपनी ड्यूटी में निकल जाते हैं।  घर बंद पाकर चोरों ने दिनदहाड़े ताला तोड़कर हाथ साफ किया। चोरों के हौसले इतने बुलंद हैं  कि शिक्षक मृत्युंजय गोप के घर  के बाहर खडी बाइक की 12 मई 2020 को चोरी कर ली गई थी। इस घटना का अब तक खुलासा नहीं हो पाया है। वहीं बुधवार की शाम के 3 से 4 बजे के बीच अज्ञात चोरों द्वारा घर का ताला तोड़कर 15 हजार नगदी एवं जेवरात समेत एक लाख बीस हज़ार रुपये की चोरी कर ली गयी।

घटना के संबंध में मृत्युंजय गोप ने बताया कि पत्नी रूपाली गोप प्राथमिक विद्यालय रायपुर में शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं, जो मायके गई हुई थी। वही मैं मध्य विद्यालय सिकरा में ड्यूटी करने के बाद जब मैं घर लौटा तो देखा कि मेरा घर का ताला टूटा हुआ था और सारे सामान बिखरे पड़े थे। नगदी समेत सोना आदि की चोरी कर ली गई थी। घटना के बाद पोटका थाना को एक लिखित शिकायत देते हुए कार्रवाई की मांग की है।

स्कूल में भी हो चुकी है चोरी

jagran

बताया जा रहा है कि उत्क्रमित मध्य विद्यालय जुड़ी में सीसीटीवी कैमरे और कंप्यूटर की चोरी कुछ महीनों पहले कर ली गई है वहीं पास में ही जुड़ी पंचायत भवन से सोलर बैटरी की चोरी कर ली गई। इन सारी घटनाओं का अब तक पोटका पुलिस द्वारा किसी तरह का खुलासा नहीं किए जाने से चोरों के हौसले बुलंद हैं। चोर दिनदहाड़े भी घरों में घुसकर चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं  जिससे आसपास के ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है। शिक्षक मृत्युंजय गोप ने बताया कि जल्द ही इस मामले का खुलासा नहीं होता है तो मैं सीनियर एसपी से मिलकर कार्रवाई की मांग करूंगा। मेरे घर में अब तक दो बार चोरी हो चुकी है। दोनों घटनाओं में पोटका पुलिस द्वारा चोरों की गिरफ्तारी को लेकर किसी तरह का प्रयास अब तक नहीं किया गया ह

ै।