प्रेम विवाह करने पर दुष्कर्म के बाद बेटी की हत्या के मामले में महिला आयोग ने डीजीपी को लिखा पत्र

दुष्कर्म के बाद बेटी की हत्या के मामले में महिला आयोग ने डीजीपी को लिखा पत्र। फाइल फोटो
 दुष्कर्म के बाद बेटी की हत्या के मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने मध्य प्रदेश के डीजीपी को पत्र लिखकर समयबद्ध कार्रवाई की मांग की है। वहीं पुलिस इस मामले क हर पहलू की जांच कर रही है।

भोपाल, एएनआइ। प्रेम विवाह करने पर दुष्कर्म के बाद बेटी की हत्या के मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने मध्य प्रदेश के डीजीपी को पत्र लिखकर समयबद्ध कार्रवाई की मांग की है। गौरतलब है कि भोपाल में रातीबड़ पुलिस ने 14 नवंबर को समसगढ़ फार्म हाउस के आगे जंगल में एक 25 वर्षीय महिला और उसके पांच माह के बेटे का शव मिलने की घटना का मंगलवार को खुलासा किया था। महिला की हत्या उसके पिता और भाई ने की थी। हत्या से पहले पिता ने उसके साथ दुष्कर्म किया, जबकि उसका भाई जंगल में पहरेदारी कर रहा था। महिला ने डेढ़ साल पहले बिरादरी से बाहर जाकर प्रेम विवाह किया था। रातीबड़ थाना प्रभारी सुदेश तिवारी ने बताया कि महिला पति को बताकर बीमार बेटे को लेकर रातीबड़ में रहने वाली अपनी बड़ी बहन के घर आई थी, यहां से वह लापता हो गई। 

इस तरह हुआ खुलासा

पुलिस ने मृतका की बहन को पूछताछ के लिए बुलाया। उसने बताया कि महिला ने अपने पति से आखिरी बार मकान मालिक के फोन से बात की थी। उसका बेटा बीमार था। चार नवंबर को उसकी मौत हो गई थी। इसके बारे में उसने अपने पिता और भाई को बताया। वह उसका अंतिम संस्कार करने के लिए बाइक से जंगल लेकर गए। भाई दूज के दिन भाई टीका कराने आया, तब उसने बताया था कि उसने और पिता ने मिलकर बहन की हत्या कर दी है। डर के कारण उसने यह बात किसी को नहीं बताई थी। गौरतलब है कि बच्चों के यौन शोषण और उससे संबंधित सामग्री को वेबसाइटों पर पोस्ट और प्रसारित करने के मामले में 83 लोगों के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) ने बड़ी कार्रवाई शुरू की है। इसी के तहत मंगलवार को जांच एजेंसी ने 14 राज्यों में 76 ठिकानों पर सघन तलाशी अभियान चलाया। इसमें मध्य प्रदेश का ग्वालियर जिला भी शामिल है, यहां जांच एजेंसी ने छानबीन की।