कोरोना का हाट स्‍पाट बना यूरोप, नीदरलैंड में कोरोना प्रतिबंधों का विरोध, पुलिस फायरिंग में कई घायल, रूस में रिकार्ड मौतें

 

मौजूदा वक्‍त में यूरोप महाद्वीप कोरोना महामारी का केंद्र बना हुआ है।
मौजूदा वक्‍त में यूरोप महाद्वीप कोरोना महामारी का केंद्र बना हुआ है। यूरोप के कई देशों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। महामारी के लौटने के खतरे पर गौर करते हुए कई देशों ने सख्‍त कदम उठाने शुरू किए हैं।

वाशिंगटन, एजेंसियां। यूरोप के कई देशों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं। इसके चलते कई देशों में दोबारा पाबंदियां लगाई जाने लगी हैं। कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए नीदरलैंड में भी पाबंदियां लगाई गई हैं, जिसके विरोध में लोग सड़कों पर उतर गए हैं। शहर के मध्य रोटरडम इलाके में भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी जिसमें कई लोग घायल हुए हैं। आस्ट्रिया ने एक फरवरी से सभी लोगों के लिए कोविड रोधी टीकाकरण को अनिवार्य बना दिया है।

स्लोवाकिया ने गैर जरूरी सामान की दुकानों और मॉल में उन लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी जिन्‍होंने कोविड रोधी वैक्‍सीन नहीं लगवाई है। टीका नहीं लगवाने वाले लोग सार्वजनिक कार्यक्रमों में भी नहीं जा सकेंगे। यही नहीं काम पर जाने के लिए भी ऐसे लोगों को दो बार जांच करानी होगी। यूनान के प्रधानमंत्री किरियाकोस मित्सोताकिस ने कोविड रोधी वैक्‍सीन नहीं लगवाने वाले लोगों को रेस्टोरेंट, सिनेमा, थियेटर, संग्रहालय और जिम में जाने पर पाबंदिया लगवा दी हैं। चेक गणराज्य ने भी ऐसे लोगों पर पाबंदियां लगाई हैं।

नीदरलैंड में उग्र विरोध प्रदर्शन

कोरोना के चलते लगाई जाने वाली पाबंदियों के विरोध में नीदरलैंड में अब तक का सबसे उग्र विरोध प्रदर्शन हुआ है। हिंसक प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की फायरिंग में कई लोग घायल हुए हैं। कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। शहर के मेयर ने विरोध प्रदर्शन को हिंसा का तांडव करार दिया है। पुलिस फायरिंग पर उन्होंने कहा कि कभी-कभी सुरक्षा बलों को अपने हथियार का इस्तेमाल करना पड़ता है। इस साल जनवरी में जब कई क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया था तब भी लोगों ने भारी विरोध किया था।

सिंगापुर ने बच्चों के टीकाकरण की योजना बनाई

सिंगापुर की सरकार ने जनवरी से 12 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए कोविड-19 रोधी वैक्‍सीन देने की योजना बनाई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि कोविड-19 के कुल मामलों में 11.2 फीसद मामले 12 साल से कम उम्र के बच्चों में देखने को मिले हैं।

चेक गणराज्य में बढ़े केस

चेक गणराज्य में एक हफ्ते के भीतर दूसरी बार कोरोना संक्रमण के रिकार्ड 22 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 22,936 नए मामले दर्ज किए गए हैं। चेक गणराज्‍य में बृहस्पतिवार को महामारी से 110 लोगों की मौत हुई।

रूस में रिकार्ड 1,254 की मौत, जर्मनी में 63,924 केस

समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक रूस में बीते 24 घंटे में महामारी से रिकार्ड 1,254 लोगों की मौत हो गई जबकि 37,120 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही रूस में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 9,294,188 हो गई है जबकि महामारी से 262,843 लोगों की जान जा चुकी है। जर्मनी में 24 घंटे में 63,924 मामले सामने आए हैं जबकि 248 लोगों की मौत हुई है। जर्मनी में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 5,312,215 हो गया है जबकि 98,987 लोगों की मौत हुई है।