एलएसी में तनाव के बीच उप सेना प्रमुख बोले, सेना बाहरी व आंतरिक खतरों का मुकाबला करने को हमेशा तैयार

 

सशस्त्र बल देश का सबसे मजबूत स्तंभ: लेफ्टिनेंट जनरल मोहंती
चीन का नाम लिए बिना उप सेना प्रमुख ने कहा कुछ ताकतें झूठ का सहारा लेकर अवैध रूप से भारतीय क्षेत्र पर अपनी दावेदारी दिखा रही हैं लेकिन इस तरह के रवैये से संबंधों में सुधार नहीं लाया जा सकता।

चेन्नई, प्रेट्र। उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल चंडी प्रसाद मोहंती ने शनिवार को चीन पर परोक्ष रूप से हमला बोला। उन्होंने कहा, दुश्मन झूठे बहाने से प्रभुत्ववादी साजिशों के साथ यथास्थिति बदलने की कोशिश करते हैं, लेकिन भारतीय सेना सभी बाहरी और आंतरिक खतरों का मुकाबला करने के लिए हमेशा तैयार रहती है।

चीन का नाम लिए बिना उप सेना प्रमुख ने कहा, कुछ ताकतें झूठ का सहारा लेकर अवैध रूप से भारतीय क्षेत्र पर अपनी दावेदारी दिखा रही हैं, लेकिन इस तरह के रवैये से संबंधों में सुधार नहीं लाया जा सकता। शांति, समृद्धि व विकास के लिए इन बहु-क्षेत्रीय सुरक्षा चुनौतियों को दूर किया जाना चाहिए।उन्होंने कहा, हमें सभी बाहरी और आंतरिक खतरों का डटकर मुकाबला करना होगा। सशस्त्र बल देश का सबसे मजबूत स्तंभ हैं। मोहंती ने यह भी कहा कि पेशेवर चुनौतियां बनी रहेंगी, सैन्य अधिकारी वांछित नेतृत्व गुणों को पूरा करने के लिए आवश्यक कुर्बानी देने के लिए तैयार रहें। तमिलनाडु में पासिंग आउट परेड का निरीक्षण करने अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (ओटीए) पहुंचे मोहंती ने कहा कि हमारी सेना के प्रयास से देश की व्यापक राष्ट्रीय शक्ति बढ़ी है और विश्व पटल पर हम और ताकतवर हो रहे हैं।

178 कैडेट हुए पास आउट, महिला अधिकारियों को सराहा

चेन्नई स्थित अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी से कुल 178 कैडेट पास आउट हुए, जिनमें 124 पुरुष, 29 महिलाएं और 25 विदेशी शामिल हैं। निरीक्षण के दौरान लेफ्टिनेंट जनरल मोहंती ने महिला सैन्य अधिकारियों की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा, हमारी महिला सेना अधिकारियों ने भी रक्षा क्षेत्र में दुश्मनों को अपनी ताकत का एहसास करवाया है। महिला अधिकारियों ने पिछले कुछ दशकों में तेजी से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और कई चुनौतियों के बावजूद योग्यता साबित की है।