सपा अध्‍यक्ष अखिलेश से म‍िलने पहुंचे आरएलडी अध्यक्ष जयंत चौधरी, सीट बंटवारे को लेकर हुई चर्चा

आरएलडी और समाजवादी पार्टी बुधवार को संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं। इस दौरान गठबंधन पर मुहर लग सकती है।
यूपी चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) और राष्ट्रीय लोक दल ( आरएलडी) के बीच गठबंधन का आधिकारिक ऐलान होना अभी बाकी है। आरएलडी चीफ चौधरी जयंत सिंह ने पहले भी ये साफ किया था कि सपा के साथ गठबंधन कर वे चुनाव मैदान में उतरेंगे।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात करने आरएलडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी उनके आवास पहुंचे। दोनों के बीच विधानसभा सीटों के बंटवारे को लेकर लंबी बातचीत हुई। यूपी चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) और राष्ट्रीय लोक दल ( आरएलडी) के बीच गठबंधन का आधिकारिक ऐलान होना अभी बाकी है। आरएलडी चीफ चौधरी जयंत सिंह ने पहले भी ये साफ किया था कि सपा के साथ गठबंधन कर वे चुनाव मैदान में उतरेंगे। अब आरएलडी प्रमुख जयंत ने मंगलवार को लखनऊ पहुंचकर सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के साथ की है। 

सूत्रों के अनुसार सपा और आरएलडी में सीटों को लेकर सहमति बन गई है। आरएलडी 36 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। आरएलडी और समाजवादी पार्टी कल संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं। इस दौरान गठबंधन पर मुहर लग सकती है।  दोनों युवा नेताओं की मुलाकात के बाद सियासी गलियारे में चर्चाओं ने जोर पकड़ ल‍िया है।

समाजवादी पार्टी में करीब एक हफ्ते से इस बात चर्चा थी कि 21 नवंबर को अखिलेश यादव और आरएलडी अध्यक्ष जयंत चौधरी 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर गठबंधन का ऐलान करेंगे, लेकिन दोनों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति नहीं बनी थी। कृषि कानूनों के वापस लेने के ऐलान के बाद अचानक से पश्चिम यूपी के समीकरण बदले नजर आ रहे हैं। जानकारी के मुताबिक समाजवादी पार्टी रालोद को 32 सीटें देना चाहती है, जबकि रालोद की मांग 50 सीटों की है। गौरतलब है कि इससे पहले सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के जन्मदिवस 22 नवंबर से एक दिन पहले यानी 21 नवंबर को गठबंधन के ऐलान की बात कही जा रही थी।