सीएम मनोहर लाल ने सोनीपत में फसलों के नुकसान का लिया जायजा, कहा- करेंगे सभी हलकों का विकास

 

पूरा हरियाणा मेरा, सभी हलकों का समान विकास करेंगे : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि पूरा हरियाणा मेरा है और सभी हलकों का समान विकास कराया जाएगा। पहले की सरकारों की तरह अब विकास किसी एक क्षेत्र में सिमट कर नहीं रहेगा। सभी 90 हलकों में मैं खुद गया हूं और सभी का विकास कराया जाएगा।

सोनीपत । मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि पूरा हरियाणा मेरा है और सभी हलकों का समान विकास कराया जाएगा। पहले की सरकारों की तरह अब विकास किसी एक क्षेत्र में सिमट कर नहीं रहेगा। सभी 90 हलकों में मैं खुद गया हूं और सभी का वहां की आवश्यकता के अनुसार विकास कराया जाएगा। मुख्यमंत्री शुक्रवार को खरखौदा उपमंडल के गांव झरोठी में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने क्षेत्र में बारिश और ओलावृष्टि से हुए फसलों के नुकसान का हवाई सर्वेक्षण कर जायजा लिया और किसानों को उचित मुआवजे का आश्वासन भी दिया।

झरोठी गांव में सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि 42 साल पहले वर्ष 1980 में ही हरियाणा को अपना परिवार मान लिया था। उस वक्त से ही पूरे प्रदेश में एक समान विकास उनके एजेंडे में शामिल है। राजनीति में तो इसके बाद आया। सरकार बनने के बाद इसे धरातल पर लागू किया और आज सभी हलकों में विकास कार्य कराए जा रहे हैं। वे पहले मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने सभी 90 हलकों का दौरा किया है। उन्होंने कहा कि वे खुद किसान के बेटे हैं और पिता के साथ खेतों में काम किया है। इसलिए खेती-किसानी और किसानों की समस्या का समाधान उनकी प्राथमिकता में है।

ग्राम दर्शन पोर्टल बनाया

ग्रामीणों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने एक ग्राम दर्शन पोर्टल बनाया है। अब ग्रामीणों को अपनी समस्याओं को लेकर इधर-उधर भटकने की आवश्यकता नहीं है। ग्राम दर्शन पोर्टल पर कोई भी ग्रामीण अपने क्षेत्र की समस्या डाल सकते हैं। उस पर त्वरित सुनवाई होगी और एक माह के अंदर पोर्टल के माध्यम से ही बता दिया जाएगा कि समस्या के समाधान के लिए क्या कदम उठाए गए हैं।

कितनी धनराशि खर्च की जाएगी और कब तक इसका समाधान हो जाएगा। यही नहीं, सीएम विंडो का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पहले कागजो के ढेर लगे होते थे, फिर सीएम विंडो चालू हुई है। इस पर अब तक साढ़े नौ लाख शिकायतें मिली हैं, जिनमें से आठ लाख से ज्यादा का समाधान हो चुका है।

प्रदेश के एक लाख एकड़ जमीन होगी ठीक

मुख्यमंत्री ने कहा के प्रदेश में बहुत सारी जमीन किन्हीं कारणों से बंजर पड़ी है, उनमें खेती नहीं हो पा रही है। कहीं जमीन मिट्टी उठाव के कारण नीची हो गई, जिसमें पानी भरा रहता है तो कहीं जमीन ऊंची होने के कारण वह खेती के लायक नहीं है। ऐसे लगभग एक लाख एकड़ जमीन को खेती के लायक बनाने का सरकार ने बीड़ा उठाया है। इस तरह की जमीन को ठीक कर खेती लायक बनाने में किसानों का प्रति एकड़ के हिसाब से जो भी खर्चा आएगा, उसका आधा सरकार देगी। उन्होंने किसानों से अपील भी कि वे अपनी जमीन से चंद पैसों के लिए मिट्टी न उठवाएं।