बंगाल की खाड़ी पर फिर बन रहा निम्न दबाव का क्षेत्र, कई इलाकों में होगी बारिश, जानें दिल्‍ली वालों को कब मिलेगी धुंध से निजात

 



13 नवंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी पर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा (फाइल फोटो)
मौसम विभाग के मुताबिक 13 नवंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इसकी वजह से आने वाले दिनों में एकबार फि‍र मौसम में बदलाव नजर आ सकता है। जानें आने वाले दिनों में कैसा रहेगा मौसम...

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। मौसम विभाग के मुताबिक तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में भारी बारिश में कमी आने की संभावना है क्योंकि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना दबाव गुरुवार को उत्तरी तमिलनाडु को पार कर गया। हालांकि आंध्र प्रदेश में भारी बारिश की गतिविधियां देखी जा सकती हैं। मौसम विभाग की ओर से 12 नवंबर को तमिलनाडु, पुडुचेरी, रायलसीमा दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और केरल में अलग-अलग इलाकों में भारी बारिश के साथ अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

मौसम विभाग की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि 13 नवंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। यही नहीं 13 नवंबर को ही दक्षिण अंडमान सागर और उसके आसपास एक और नया निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और बाद के 48 घंटों के दौरान डीप डिप्रेशन में तब्‍दील होने की संभावना है। इसकी वजह से आने वाले दिनों में एकबार फि‍र मौसम में बदलाव नजर आ सकता है।

समाचार एजेंसी पीटीआइ ने मौसम विभाग के हवाले से बताया है कि चेन्नई, कांचीपुरम और विल्पुरम सहित उत्तरी तमिलनाडु के जिलों में बारिश की गतिविधियां नजर आ सकती हैं। तमिलनाडु के कई इलाकों में पूरी रात तेज बारिश दर्ज की गई। रिपोर्ट के मुताबिक तांबरम (चेंगलपेट डीटी) में 232.9 मिलीमीटर, उसके बाद चोलावरम (220 मिलीमीटर) और एन्नोर में 205 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। गौरतलब है कि तमिलनाडु में भारी बारिश और बाढ़ से अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है।

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक मौजूदा वक्‍त में एनडीआरएफ ने तमिलनाडु में 14 बटालियनों को तैनात किया है। वहीं मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी एजेंसी स्‍काईमेट वेदर ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अगले 24 घंटों के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश के आसपास के हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। वहीं केरल के कुछ हिस्सों, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। तटीय ओडिशा, दक्षिण तेलंगाना और लक्षद्वीप के कुछ इलाकों में बारिश संभव है।

मौसम विभाग ने दिल्‍ली एनसीआर के इलाकों में 10 से 12 नवंबर तक हवा की गुणवत्‍ता के 'बहुत खराब' श्रेणी में रहने का अनुमान जताया है। हालांकि इसके बाद राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक्यूआई में धीरे-धीरे सुधार हो सकता है। समाचार एजेंसी पीटीआइ ने मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के हवाले से बताया है कि दिल्‍ली एनसीआर के इलाकों में अगले कुछ दिनों में तापमान में और गिरावट दर्ज की जा सकती है। दिन में हल्की धुंध या कोहरा छाया रह सकता है। सीपीसीबी के अनुसार गुरुवार को सुबह आठ बजे एक्‍यूआइ 402 दर्ज की गई।

बंगाल की खाड़ी पर फिर बन रहा निम्न दबाव का क्षेत्र, कई इलाकों में होगी बारिश, जानें दिल्‍ली वालों को कब मिलेगी धुंध से निजात

13 नवंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी पर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा (फाइल फोटो)
Publish Date:Thu, 11 Nov 2021 05:47 PM (IST)Author: Krishna Bihari Singh

मौसम विभाग के मुताबिक 13 नवंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इसकी वजह से आने वाले दिनों में एकबार फि‍र मौसम में बदलाव नजर आ सकता है। जानें आने वाले दिनों में कैसा रहेगा मौसम...

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। मौसम विभाग के मुताबिक तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में भारी बारिश में कमी आने की संभावना है क्योंकि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना दबाव गुरुवार को उत्तरी तमिलनाडु को पार कर गया। हालांकि आंध्र प्रदेश में भारी बारिश की गतिविधियां देखी जा सकती हैं। मौसम विभाग की ओर से 12 नवंबर को तमिलनाडु, पुडुचेरी, रायलसीमा दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और केरल में अलग-अलग इलाकों में भारी बारिश के साथ अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

मौसम विभाग की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि 13 नवंबर के आसपास बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। यही नहीं 13 नवंबर को ही दक्षिण अंडमान सागर और उसके आसपास एक और नया निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और बाद के 48 घंटों के दौरान डीप डिप्रेशन में तब्‍दील होने की संभावना है। इसकी वजह से आने वाले दिनों में एकबार फि‍र मौसम में बदलाव नजर आ सकता है।

समाचार एजेंसी पीटीआइ ने मौसम विभाग के हवाले से बताया है कि चेन्नई, कांचीपुरम और विल्पुरम सहित उत्तरी तमिलनाडु के जिलों में बारिश की गतिविधियां नजर आ सकती हैं। तमिलनाडु के कई इलाकों में पूरी रात तेज बारिश दर्ज की गई। रिपोर्ट के मुताबिक तांबरम (चेंगलपेट डीटी) में 232.9 मिलीमीटर, उसके बाद चोलावरम (220 मिलीमीटर) और एन्नोर में 205 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। गौरतलब है कि तमिलनाडु में भारी बारिश और बाढ़ से अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है।

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक मौजूदा वक्‍त में एनडीआरएफ ने तमिलनाडु में 14 बटालियनों को तैनात किया है। वहीं मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी एजेंसी स्‍काईमेट वेदर ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अगले 24 घंटों के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश के आसपास के हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। वहीं केरल के कुछ हिस्सों, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। तटीय ओडिशा, दक्षिण तेलंगाना और लक्षद्वीप के कुछ इलाकों में बारिश संभव है।

मौसम विभाग ने दिल्‍ली एनसीआर के इलाकों में 10 से 12 नवंबर तक हवा की गुणवत्‍ता के 'बहुत खराब' श्रेणी में रहने का अनुमान जताया है। हालांकि इसके बाद राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक्यूआई में धीरे-धीरे सुधार हो सकता है। समाचार एजेंसी पीटीआइ ने मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के हवाले से बताया है कि दिल्‍ली एनसीआर के इलाकों में अगले कुछ दिनों में तापमान में और गिरावट दर्ज की जा सकती है। दिन में हल्की धुंध या कोहरा छाया रह सकता है। सीपीसीबी के अनुसार गुरुवार को सुबह आठ बजे एक्‍यूआइ 402 दर्ज की गई।