जेई बनकर करता था उगाही, वीडियो इंटरनेट मीडिया में वायरल होते ही बेलदार हुआ निलंबित

 

भ्रष्टाचार और लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त : महापौर
आरोपित को शास्त्री पार्क वार्ड में कुछ लोगों ने रंगे हाथों पकड़ा व वीडियो बनाकर उसे इंटरनेट मीडिया पर डाल दिया। अग्रवाल ने कहा कि बिल्डिंग विभाग में बेलदार नाम का कोई पद नहीं है।निगम में नाला बेलदार हैं। अवैध उगाही करने वाले किसी भी बेलदार को बख्शा नहीं जाएगा।

नई दिल्ली: अपने आपको जूनियर इंजीनियर (जेई) बताकर लोगों से उगाही करने के आरोप में नगर निगम शाहदरा दक्षिणी जोन में कार्यरत सोमनाथ नामक एक बेलदार को निलंबित कर दिया गया है।  

कुछ लोगों के रवैये से पूरा निगम होता है बदनाम

महापौर ने कहा कि कुछ कर्मचारियों के रवैये की वजह से पूरा निगम बदनाम होता है। निष्ठावान कर्मचारी पूर्वी निगम की संपत्ति है, लेकिन भ्रष्ट अधिकारियों या कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने बताया कि सोमनाथ अपने आप को जेई बताकर मकानों को तुड़वाने की धमकी देकर लोगों से पैसे ऐंठता था।

कुछ लोगों ने वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर किया वायरल

पिछले दिनों आरोपित को शास्त्री पार्क वार्ड में कुछ लोगों ने रंगे हाथों पकड़ा व वीडियो बनाकर उसे इंटरनेट मीडिया पर डाल दिया। अग्रवाल ने कहा कि बिल्डिंग विभाग में बेलदार नाम का कोई पद नहीं है। निगम में नाला बेलदार हैं। अवैध उगाही करने वाले किसी भी बेलदार को बख्शा नहीं जाएगा। यदि जेई की संलिप्तता पाई तो उसके खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले भ्रष्टाचार के आरोप में ही जूनियर इंजीनियर मयूर सिंघल को भी पूर्वी निगम ने निलंबित कर दिया गया था। मयूर सिंघल पर राम नगर वार्ड में एक मकान बनवा रहे शख्स से एक लाख रुपये मांगने का आरोप है जबकि उनकी तैनाती दूसरे वार्ड में थी। इस मामले में भी जांच चल रही है।