दोस्त के झगड़े में गए युवक को नाबालिगों ने पीट पीटकर मौत के घाट उतारा

 

पुलिस ने हत्या करने वाले पांच नाबालिगों को दबोचा
 मृतक की पहचान करण के रूप में हुई है। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर वारदात में शामिल पांच नाबालिगों को दबोच लिया। सभी आरोपित जगजीत नगर के रहने वाले हैं। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित मौके से फरार हो गए थे।

नई दिल्ली। न्यू उस्मानपुर इलाके में एक युवक को अपने दोस्त के झगड़े में जाना भारी पड़ गया। पांच नाबालिगों ने बीच सड़क पर युवक को लात घूंसों से पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित मौके से फरार हो गए। मृतक के एक दोस्त ने पुलिस को मामले की सूचना दी।

पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर वारदात में शामिल पांच नाबालिगों को दबोच लिया। सभी आरोपित जगजीत नगर के रहने वाले हैं। करण अपने परिवार के साथ गली नंबर 10 ब्रह्मपुरी में रहते थे। उनके परिवार में मां पूनम व एक छोटा भाई है, कुछ वर्ष पहले करण के पिता ने परिवार को छोड़ दिया था।

करण एक दुकान पर मोटर ठीक करने का काम करते थे। वहीं, करण का दोस्त नितिन अपने मामा के साथ शिव मंदिर ब्रह्मपुरी के पास रहता है। वह एक्स ब्लाक ब्रह्मपुरी में एक फैक्ट्री में काम करता है। वह बुधवार दोपहर करीब 2:50 बजे घर से फैक्ट्री जा रहे थे, जब वह दूसरे पुश्ते की गली नंबर पांच के पास पहुंचे। उन्हें तीन लड़कों ने घेर लिया और उनसे जबरदस्ती उलझने लगे, गाली गलौज कर मारपीट करने पर उतारू हो गए।

विवाद बढ़ने लगा तो नितिन ने फोन करके अपने दोस्त करण और सन्नी को मौके पर बुलाया। कुछ ही देर में दाेनों मौके पर पहुंच गए और आरोपितों से विवाद की वजह पूछने लगे, उसी दौरान तीनों लड़कों के दो और साथी मौके पर पहुंच गए। आरोप है कि करण आरोपितों से बातचीत कर ही रहे थे, तभी पांचों ने उन पर धावा बोल दिया। लात घूंसों से पीटने लगे, नितिन और सन्नी ने बचाने का प्रयास किया तो उन्हें भी पीट दिया। नाबालिग करण को तब तक पीटते रहे, जब तक उसकी माैत नहीं हाे गई। वारदात को अंजाम देकर आरोपित फरार हो गए। पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों से आरोपितों की पहचान की और जगजीत नगर से ही उन्हें दबोचा।