Meta का दावा- Facebook और Instagram पर कम हुआ हेट स्पीच कंटेंट, कंपनी ने जारी किए आंकड़े

 

ये Jagran की ऑफिशियल फाइल फोटो है|
Meta के रूप में रीब्रांड किए गए फेसबुक ने रिपोर्ट में दावा किया कि कंपनी ने अपने प्लेटफॉर्म पर हेट स्पीच के प्रसार को कम कर दिया है। इस साल लगातार चौथी तिमाही में हेट स्पीच में कमी आई है। Q3 में इसमें 0.02 फीसदी की गिरावट देखी गई है।

नई दिल्ली, टेक डेस्क| Facebook कुछ समय से अपने प्लेटफॉर्म पर 'हेट स्पीच', 'फेक न्यूज' जैसे कंटेंट को कम करने के लिए अलग-अलग उपाय पर काम कर रही है| कंपनी ने दावा भी किया था की वो उन अकाउंट्स, पेज और ग्रुप के खिलाफ कड़े एक्शन भी लेगी जो हेट स्पीच (Hate Speech) जैसे कंटेंट को बढ़ावा देते हैं| हाल ही में Meta के रूप में रीब्रांड किए गए फेसबुक ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि कंपनी ने अपने प्लेटफॉर्म पर हेट स्पीच के प्रसार को कम कर दिया है। इस साल लगातार चौथी तिमाही में हेट स्पीच में कमी आई है। तीसरी तिमाही (Q3) में इसमें 0.02 फीसदी की गिरावट देखी गई है।

Q4 में हेट स्पीच कंटेंट में हुई बड़ी गिरावट

सितंबर तिमाही (Q3) में, यह 0.03 प्रतिशत या फेसबुक पर कंटेंट के प्रति 10,000 व्यूज के लिए हेट स्पीच के 3 बार देखा गया था, जो कि दूसरी तिमाही में कंटेंट के प्रति 10,000 व्यूज पर 0.05 फीसदी या हेट स्पीच के 5 व्यूज से कम है। Meta ने एक बयान में कहा, "हम अपनी तकनीक में सुधार और न्यूज फीड में प्रॉब्लम कंटेंट को कम करने वाले रैंकिंग बदलाव के कारण हेट स्पीच में लगातार कमी देखी जा रही है हैं," Meta ने एक बयान में कहा। सोशल नेटवर्क ने फेसबुक पर अपनी हिंसा और उकसाने की नीति का उल्लंघन करने के लिए 13.6 मिलियन कंटेंट को हटा दिया। कंपनी के जारी किए गए आकड़ो के अनुसार "इंस्टाग्राम पर, हमने 96.4 % की प्रोएक्टिव डिटेक्शन रेट के साथ इस कंटेंट के 3.3 मिलियन से ज्यादा पोस्ट हटा दिए।"

Q3 में हटाया  9.2 मिलियन बुलिंग और हैरेसमेंट कंटेंट

Q3 में, बुलिंग और हैरेसमेंट कंटेंट का रेट 0.14-0.15 प्रतिशत था और Facebook पर कंटेंट के प्रति 10,000 बार देखे जाने पर बुलिंग और हैरेसमेंट  के 14 से 15 विचारों के बीच थी। इंस्टाग्राम पर, यह 0.05-0.06 प्रतिशत या इंस्टाग्राम पर कंटेंट के प्रति 10,000 बार देखे जाने पर 5 से 6 बार के बीच था। "हमने 59.4 प्रतिशत की प्रोएक्टिव रेट के साथ Facebook पर 9.2 मिलियन बुलिंग और हैरेसमेंट कंटेंट को हटा दिया। हमने इंस्टाग्राम पर 83.2 प्रतिशत की प्रोएक्टिव रेट के साथ 7.8 मिलियन बुलिंग और हैरेसमेंट कंटेंट को हटा दिया, ”कंपनी ने कहा।

2022 में Meta करेगी ये बड़ा बदलाव

मेटा कंपनी ने एक बयान में कहा कि 19 जनवरी 2022 से हम वैसे ऑप्शन को हटा देंगे जो उन विषयों से संबंधित हैं जिन्हें लोग संवेदनशील समझ सकते हैं| जैसे कि स्वास्थ्य, जातीयता, राजनीतिक, धर्म से संबंधित कारणों, संगठनों या सार्वजनिक आंकड़ों का संदर्भ देने वाले विकल्प हटा देंगे| मेटा ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि उसने सितंबर में भारत में Facebook और Instagram पर 30 मिलियन से ज्यादा कंटेंट को हटा दिया है, क्योंकि इसे यूजर्स डेटा गोपनीयता पर गहन सुरक्षा का सामना करना पड़ता है|

Facebook की इंटीग्रिटी कंट्री प्रायोरिटी लिस्ट में पहले नंबर पर भारत  

Economic Times की रिपोर्ट के मुताबिक, 2021 में Facebook की इंटीग्रिटी कंट्री प्रायोरिटी लिस्ट में सबसे ऊपर भारत का नाम आया है| Tier I कैटेगरी में भारत के बाद पाकिस्तान, सीरिया, इराक और इथियोपिया भी इस लिस्ट में शामिल हैं। लिस्ट में अन्य देशों में फिलीपींस, यमन, मिस्र, रूस और म्यांमार शामिल हैं। सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी के इंटरनल Memo में कहा है कि इस साल भारत में गलत सूचना, हिंसा, वायलेंस और हेट स्पीच जैसे नुकसान के संबंध में हमे रिस्क के बाहर की जरूरत है।

Popular posts
आमना शरीफ ने ब्लैक ब्रालेट पहन बीच पर 'बोल्ड' अंदाज में किया पोज, तस्वीरें देख ट्रोलर्स ने कहा, 'आप कहां की शरीफ है'
Image
अयान मुखर्जी ने शेयर कीं 'ब्रह्मास्त्र' की शूटिंग की 5 तस्वीरें, तीसरी तस्वीर से लीक हुआ रणबीर कपूर के पौराणिक किरदार का लुक?
Image
दिल्ली में बर्बाद हो चुकी फसल के लिए किसानों को मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार, भाजपा ने लिया क्रेडिट
Image
खुद को पानी और आग आग का मिश्रण मानती हैं ईशा सिंह, 'सिर्फ तुम' से डेढ़ साल बाद लौटीं टीवी पर
Image
सिर्फ 9 लाख रुपये में ग्रेटर नोएडा में पाएं अपना घर, जानिये- कीमत, ड्रा और पजेशन के बारे में
Image