रक्षा विशेषक्ष पीके सहगल बोले- अफगानिस्तान पर NSA स्तरीय बैठक भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण

 

रक्षा विशेषक्ष पीके सहगल बोले- अफगानिस्तान पर NSA स्तरीय बैठक भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण
रक्षा विशेषक्ष पीके सहगल ने (PK Sehgal) ने कहा कि अफगानिस्तान पर एनएसए-स्तरीय बैठक भारत के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है। बता दें कि 10 नवंबर को अफगानिस्तान पर क्षेत्रीय सुरक्षा वार्ता  की मेजबानी करने के लिए भारत तैयार है।

नई दिल्ली, एएनआइ। रक्षा विशेषक्ष पीके सहगल ने ने कहा कि अफगानिस्तान पर एनएसए-स्तरीय बैठक भारत के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है। बता दें कि 10 नवंबर को अफगानिस्तान पर क्षेत्रीय सुरक्षा वार्ता  की मेजबानी करने के लिए भारत तैयार है। रक्षा विशेषज्ञ मेजर जनरल (retired) पीके सहगल ने कहा कि बैठक अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि भारत चिंतित है कि अफगान क्षेत्र आतंकवाद का स्रोत नहीं बन जाए और क्षेत्र की सुरक्षा सर्वोपरि है। बता दें कि तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जे के 2 महीनों बाद यह बैठक हो रही है।

सहगल ने कहा, 'यह बैठक भारत के लिए बिल्कुल महत्वपूर्ण है क्योंकि भारत के अफगानिस्तान के साथ गहरे संबंध हैं। उनके आर्थिक हित, राजनीतिक और सुरक्षा निहितार्थ हैं।' वहीं सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि बैठक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) स्तर पर होगी। एनएसए स्तर की वार्ता की अध्यक्षता भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल करेंगे। उन्होंने अफगानिस्तान में सत्ता परिवर्तन के बाद क्षेत्र में सुरक्षा चिंताओं को रेखांकित करते हुए कहा, जहां तक अफगानिस्तान के साथ संबंधों का सवाल है, भारत नहीं चाहता कि अफगानिस्तान किसी भी परिस्थिति में भारत के खिलाफ कोई आतंकवादी गतिविधि करे।

बैठक में शामिल नहीं होगा पाकिस्तान

इस बैठक में औपचारिक रूप से भारत द्वारा चीन, पाकिस्तान, रूस, ईरान, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान सहित देशों निमंत्रण दिया गया है। सहगल के मुताबिक पाकिस्तान ने अपने मीडिया के जरिए बैठक में शामिल होने से इनकार कर दिया है।

इस पहले हो चुकी हैं दो बैठकें

सहगल ने कहा, 'इस बैठक के महत्वपूर्ण निहितार्थ हैं। मुझे यकीन है कि बैठक सफल होगी। यह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल की एक बड़ी पहल है।' बता दें कि इस प्रारूप में इससे पहले की दो बैठकें सितंबर 2018 और दिसंबर 2019 में ईरान में हो चुकी हैं। भारत में तीसरी बैठक इससे पहले महामारी के कारण नहीं हो सकी थी।