वेरिफेकेशन पर UIDAI की बड़ी तैयारी, नहीं होगी फिंगरप्रिंट स्कैन की जरूरत, SIM खरीदने से पेंशन पाने में आपका स्मार्टफोन आएगा काम

 

ये Aadhaar स्कैन की फाइल फोटो है।
Adhar Card UIDAI UIDAI की मानें तो इस दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है। ऐसे में हमें उम्मीद है कि जल्द इसे स्मार्टफोन को यूनिवर्सल अथेंटिकेटर की तरह विकसित कर लिया जाएगा। इसके बाद लोगों को दफ्तरों या सरकारी संस्थान के चक्कर नहीं लगाने होंगे

मुंबई, पीटीआई। आधार (Aadhaar) नियामक यूनिक आइडेंटिटी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) की तरफ से एक बड़े प्लान पर काम कर रहा है। जिससे यूजर्स के स्मार्टफोन को यूनिवर्सनल अथेंटिकेटर की तरह इस्तेमाल किया जा सके। मौजूदा वक्त में फिंगरप्रिंट, आयरिश स्कैन और वन-टाइम पासवर्ड (OTP) का अथेंटिकेशन के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन जल्द ही स्मार्टफोन से अथेंटिकेशन प्रक्रिया को पूरा किया जा सकेगा।साधारण शब्दों में कहें, तो यूजर्स को अभी राशन और पेंशन जैसी सुविधाओं का लाभ लेने के लिए फिंगरप्रिंट या फिर आंखों को स्कैन करना होता है। लेकिन जल्द ही इसकी जगह स्मार्टफोन को इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए UIDAI आपके स्मार्टफोन को यूनिवर्सल अथेंटिकेशन की तरह विकसित करने का काम कर रही है।

जल्द पूरा होगा काम 

UIDAI की मानें, तो इस दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है। ऐसे में हमें उम्मीद है कि जल्द इसे स्मार्टफोन को यूनिवर्सल अथेंटिकेटर की तरह विकसित कर लिया जाएगा। इसके बाद लोगों को सरकारी सुविधों का लाभ लेने के लिए दफ्तरों या फिर किसी दूसरे सरकारी संस्थान के चक्कर नहीं लगाने होंगे। आधार कार्ड (Aadhaar Card) होल्डर व्यक्ति घर बैठकर आधार कार्ड को वर्चुअली स्मार्टफोन से वेरिफाई कर पाएगा। 

किस जगह स्मार्टफोन को अथेंटिकेटर की तरह कर पाएंगे इस्तेमाल

  • बैंक अकाउंट खोलने 
  • राशन कार्ड बनाने और राशन लेने में 
  • नया मोबाइल कनेक्शन लेने में 
  • पेंशन बनवाने में
  • डीएल बनवाने 
  • पैन लिंक करान में 

80 करोड़ स्मार्टफोन को बनेंगे अथेंटिकेटर

मौजूदा वक्त में कुल 120 करोड़ मोबाइल कनेक्शन मौजूद हैं। इसमें से 80 करोड़ स्मार्टफोन को अथेंटिकेटर के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि इस मामले में अभी कोई अतिरिक्त जानकारी नहीं साझा की गई है कि कैसे स्मार्टफोन को अथेंटिकेशन के लिए यूज कर सकेंगे।

Aadhaar सिक्योरिटी बनीं बाधा 

हालांकि स्मार्टफोन को Aadhaar अथेंटिकेटर बनाने की दिशा में सिक्योरिटी एक बड़ी बाधा बन सकती है।आधार डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) योजनाओं से लिंक है। इससे करीब 2 लाख करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा रोकने में मदद मिली है। बैंकिंग और टेलिकॉम इंडस्ट्री की तरफ से तेजी से आधार नंबर को KYC अपडेट के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। देश की करीब 70 करोड़ आबादी और आधे से ज्यादा बैंक अकाउंट आधार से लिंक हैं। जबकि 3 करोड़ पेंशन अकाउंट के लिए 10 करोड़ की रकम को आधार वेरिफिकेशन के बाद ही आवंटित किया जाता है।

Popular posts
अयान मुखर्जी ने शेयर कीं 'ब्रह्मास्त्र' की शूटिंग की 5 तस्वीरें, तीसरी तस्वीर से लीक हुआ रणबीर कपूर के पौराणिक किरदार का लुक?
Image
दिल्ली में बर्बाद हो चुकी फसल के लिए किसानों को मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार, भाजपा ने लिया क्रेडिट
Image
खुद को पानी और आग आग का मिश्रण मानती हैं ईशा सिंह, 'सिर्फ तुम' से डेढ़ साल बाद लौटीं टीवी पर
Image
आमना शरीफ ने ब्लैक ब्रालेट पहन बीच पर 'बोल्ड' अंदाज में किया पोज, तस्वीरें देख ट्रोलर्स ने कहा, 'आप कहां की शरीफ है'
Image
सिर्फ 9 लाख रुपये में ग्रेटर नोएडा में पाएं अपना घर, जानिये- कीमत, ड्रा और पजेशन के बारे में
Image