एम एस धौनी के इस बड़े रिकार्ड को तोड़ने से सिर्फ 3 विकेट दूर हैं युवा रिषभ पंत, सेंचुरियन में कर सकते हैं कमाल

 


भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर रिषभ पंत (एपी फोटो)
रिषभ पंत ने टेस्ट क्रिकेट में अब तक 97 विकेट लिए हैं जिसमें 89 कैच और 8 स्टंपिंग शामिल है। वो अब टेस्ट क्रिकेट में अपने 100 विकेट पूरे करने से सिर्फ तीन विकेट दूर हैं।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए घरेलू क्रिकेट सीरीज के लिए भारतीय विकेटकीपर-बल्लेबाज रिषभ पंत को आराम दिया गया था। अब रिषभ पंत बिल्कुल तरोताजा हैं और साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले तीन-तीन मैचों की टेस्ट व वनडे सीरीज के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। रिषभ पंत अब टीम में शामिल हैं ऐसे में इस बात की पूरी उम्मीद है कि विकेट के पीछे वो रिद्धिमान साहा की जगह खेलते हुए नजर आएंगे। हालांकि न्यूजीलैंड के खिलाफ साहा ने भारत में अच्छा प्रदर्शन किया था और मुंबई टेस्ट की दूसरी पारी में कीवी टीम के खिलाफ शानदार अर्धशतक लगाया था। 

इसमें कोई शक नहीं है कि रिषभ पंत अब टेस्ट में विकेटकीपिंग करते हुए नजर आएंगे। ऐसे में 26 दिसंबर से साउथ अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन में शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच में उनके पास टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का एक रिकार्ड तोड़ने का शानदार मौका होगा। रिषभ पंत ने टेस्ट क्रिकेट में अब तक 97 विकेट लिए हैं जिसमें 89 कैच और 8 स्टंपिंग शामिल है। वो अब टेस्ट क्रिकेट में अपने 100 विकेट पूरे करने से सिर्फ तीन विकेट दूर हैं। अगर वो पहले टेस्ट मैच में तीन शिकार करते हैं तो भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 100 विकेट पूरे करने वाले विकेटकीपर बन जाएंगें। 

एम एस धौनी ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 100 विकेट 36 टेस्ट मैचों में पूरे किए थे जबकि रिषभ पंत अगर अगले टेस्ट मैच में ये आंकड़ा छूते हैं तो वो अपने 26वें टेस्ट में ऐसा कमाल कर देंगे। साउथ अफ्रीका के खिलाफ वो सेंचुरियन में अपना 26वां टेस्ट मैच खेलेंगे। भारत की तरफ से अब तक टेस्ट में सबसे तेज 100 विकेट लेने के मामले में रिद्धिमान साहा फिलहाल दूसरे नंबर पर हैं और उन्होंने 37 मैचों में ये कमाल किया था। वहीं किरण मोरे ने 39 टेस्ट मैचों में ये कमाल किया था और वो इस मामले में तीसरे नंबर पर मौजूद हैं। 

भारत में अब तक सबसे तेज 100 टेस्ट विकेट लेने वाले विकेटकीपर-

एम एस धौनी- 36 टेस्ट मैच 

रिद्धिमान साहा- 37 टेस्ट मैच

किरण मोरे- 39 टेस्ट मैच

नयन मोंगिया- 41 टेस्ट मैच

सैयद किरमानी- 42 टेस्ट मैच