लगातार तीसरे दिन भी बहुत गंभीर श्रेणी में है दिल्ली-एनसीआर की हवा, नोएडा में 500 के पार है AQI

 

लगातार तीसरे दिन भी बहुत गंभीर श्रेणी में है दिल्ली-एनसीआर की हवा
 विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि मास्क जरूर लगाएं और बेहद जरूरी काम नहीं हो तो घरों से निकलने से परहेज करें। दरअसल बहुत खराब श्रेणी में गई हवा की गुणवत्ता बुजुर्गों और बच्चों के साथ हर उम्र वर्ग के लोगों को परेशान करती है।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। पिछले सप्ताह राहत के बाद दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण एक बार फिर बड़ी चिंता का विषय बन गया है। दिल्ली-एनसीआर में लगातार तीसरे दिन हवा की गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई है। वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के मुताबिक, देश की राजधानी दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) बृहस्पतिवार को 387 दर्ज किया गया, जो बहुत गंभीर श्रेणी में आता है।SAFAR के मुताबिक, नोएडा का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 525 है।

इसके साथ ही विशेषज्ञों ने लोगों को सलाह दी है कि मास्क जरूर लगाएं और कोई बेहद जरूरी काम नहीं हो तो घरों से निकलने से परहेज करें। दरअसल, बहुत खराब श्रेणी में गई हवा की गुणवत्ता बुजुर्गों और बच्चों के साथ हर उम्र वर्ग के लोगों को परेशान करती है। खासकर शुगर, बीपी और गंभीर रोगों के शिकार लोगों को बहुत अधिक नुकसान पहुंचाती है। वहीं,.केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में अगले चार दिनों तक हवा की गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में रहेगी। 

दिल्ली में लगातार दूसरे दिन हवा की गुणवत्ता गंभीर

इससे पहले बुधवार को राजधानी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन हवा की गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में रही। इस वजह से दिल्ली की हवा अभी स्वास्थ्य के लिए घातक बनी हुई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार अगले चार दिनों तक दिल्ली एनसीआर में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में रहेगी। 27 दिसंबर से प्रदूषण के स्तर में सुधार होगा। सीपीसीबी के अनुसार बुधवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 407, फरीदाबाद का 406, गाजियाबाद का 382, ग्रेटर नोएडा का 383, गुरुग्राम का 357 व नोएडा का एयर इंडेक्स 395 दर्ज किया गया।