कांग्रेस नेता ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, कहा - पौने 5 साल डमी बने रहे विधायकों को टिकट देने से पहले पुनर्विचार करें

 

संजय सहगल पंजाब प्रदेश कांग्रेस के आरटीआई सेल के सीनियर वाइस चेयरमैन हैं।
पंजाब प्रदेश कांग्रेस के आरटीआई सेल के सीनियर वाइस चेयरमैन ने कहा है कि हाईकमान पौने पांच वर्ष तक डमी बने रहे कांग्रेस के विधायकों को चुनावी टिकट देने पर पुनर्विचार करे। सहगल ने बाकायदा हाईकमान को पत्र लिखकर टिकट वितरण को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है।

सं, जालंधर। जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, टिकट को लेकर खींचतान और दल-बदल भी शुरू हो गया है। इस बीच कांग्रेस नेता संजय सहगल ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हाईकमान पौने पांच वर्ष तक डमी बने रहे कांग्रेस के विधायकों को चुनावी टिकट देने पर पुनर्विचार करे। सहगल ने बाकायदा हाईकमान को पत्र लिखकर टिकट वितरण को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने आरोप लगाया कि कई विधायक डिपो होल्डर बने हैं, कुछ ने  पेट्रोल पंप खोल लिए हैं। इसकी जांच करवाई जानी चाहिए। सहगल पंजाब प्रदेश कांग्रेस के आरटीआई सेल के सीनियर वाइस चेयरमैन हैं। 

विधानसभा में मूकदर्शक बने विधायक टिकट के हकदार नहीं

सहगल ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रदेश प्रभारी हरीश चौधरी, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू और चरणजीत चन्नी को पत्र लिखकर कहा कि पंजाब विधानसभा सत्र के दौरान मूकदर्शक बने रहने वाले विधायक टिकट के हकदार नहीं हो सकते हैं। ऐसे विधायकों ने सदन में कोई प्रश्न नहीं पूछा और न ही अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर चर्चा के लिए ध्यानाकर्षण नोटिस ही दिया।

टिकट देने से पहले विधायक का प्रदर्शन देखा जाए

सहगल ने अपने पत्र में लिखा है कि पार्टी को टिकट वितरण को अंतिम रूप देने से पहले मौजूदा विधायक के प्रदर्शन की जांच करनी चाहिए। संजय सहगल ने कहा कि उन्होंने जालंधर के सेंट्रल हलके के विधायक समेत अन्य विधायकों के प्रदर्शन के बारे में कुछ प्रश्न पूछने के लिए पंजाब विधानसभा में आरटीआइ लगाई है। उन्होंने कहा कि विफल रहे विधायक आगामी विधानसभा चुनाव के लिए दोबारा टिकट दिए जाने के हकदार नहीं है। संजय सहगल ने कहा कि कुछ विधायकों ने इस अवधि के दौरान डिपो होल्डर से लेकर पेट्रोल पंप खोलने तक का सफर तय किया है। उनकी भी जांच करवाई जानी चाहिए।