अल्मोड़ा पहुंची विजय संकल्प यात्रा, पूर्व सीएम बोले-जनता के सहयोग से 60 के पार लक्ष्य को पूरा करेगी भाजपा

 

जनसभा में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पूरे प्रदेश में भाजपा की लहर है।
भाजपा की विजय संकल्प यात्रा जागेश्वर विधानसभा के लमगड़ा पहुंची। जहां रामलीला मैदान में जनसभा आयोजित हुई। जनसभा में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पूरे प्रदेश में भाजपा की लहर है। डबल इंजन की सरकार ने विकास का नया अध्याय जोड़ा है।

संवाददाता, अल्मोड़ा : उत्तराखंड में चल रही भाजपा की विजय संकल्प यात्रा गुरुवार को जागेश्वर व अल्मोड़ा विधानसभा पहुंची। यहां पर कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि प्रदेश में जनता के मिल रहे समर्थन ने तय कर दिया है कि इस बार भाजपा 60 के पार जरुर पहुंचेगी।

गुरुवार को भाजपा की विजय संकल्प यात्रा जागेश्वर विधानसभा के लमगड़ा पहुंची। जहां रामलीला मैदान में जनसभा आयोजित हुई। जनसभा में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पूरे प्रदेश में भाजपा की लहर है। डबल इंजन की सरकार ने विकास का नया अध्याय जोड़ा है। गांवों में प्राथमिकता से विकास किए। मूलभूत समस्याओं के समाधान के प्रयास किए गए।

jagran

गांवों से पलायन रोकने के लिए विशेष कार्य किए गए। शत प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य हासिल किया गया। महामारी के दौर में अपने गांवों को लौटे प्रवासियों को काम दिया गया। विकास योजनाओं पर तेजी से कार्य हो रहे है। जिसका असर दिखाई दे रहा है। विपक्षी चुनाव से पहले ही भाजपा के बढ़ते काफिले को देख टूटने लगे है। इस अवसर पर सांसद अजय टम्टा, यात्रा संयोजक पुष्कर काला, रमेश बहुगुणा, ललित लटवाल, सुभाष पांडे, गिरीश खोलिया, संजय डालाकोटी, प्रकाश भट्ट, गोपाल सिंह बिष्ट, गौरव पांडे आदि मौजूद थे।

इसके बाद विजय संकल्प यात्रा अल्मोड़ा विधानसी पहुंची। जहां कार्यकर्ताओं ने यात्रा का भव्य स्वागत किया। इसके बाद नंदा देवी में जनसभा का आयोजन हुआ। जिसमें कार्यकर्ताओं ने भाजपा के कार्यकाल की उपलब्धि बताई। कार्यकर्ताओं से सरकार के किए जनकल्याणकारी योजनाओं को गांव के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने को कहा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंंड के सुनियोजित विकास का खाका खींचा है। जिस पर लगातार कार्य किया जा रहा है।

इस अवसर पर विधायक रघुनाथ सिंह चौहान, कैलाश शर्मा, रवि रौतेला, किरन पंत, गोविंद पिलख्वाल, महेश नयाल, कैलाश गुरुरानी, रवि नेगी, तुषार कांत साह, विनीत बिष्ट, धर्मेंद्र बिष्ट, राहुल बोरा, कृष्ण बहादुर, सौरव वर्मा, देवेंद्र सतपाल, प्रकाश बिष्ट, ललित मेहता, रेनू अधिकारी, पूनम पालीवाल, धर्मवीर भारती, संजय जोशी, पंकज जोशी आदि मौजूद थे।