ओमिक्रोन के खतरे के बीच केंद्र ने कहा, चुनावी राज्यों में जल्द पूरा किया जाए टीकाकरण, रात्रि कर्फ्यू लगाने की भी सलाह

 

देश में तेजी से बढ़ रहे हैं ओमिक्रोन के मामले
ओमिक्रोन के नए मामलों के रोकथाम को लेकर केंद्र ने राज्यों को रात में कर्फ्यू लगाने और बड़ी सभाओं के लिए सख्त नियम सुनिश्चित करने की सलाह दी है। साथ ही राज्यों को क्रिसमस और नए साल के सेलिब्रेशन पर स्थानीय प्रतिबंधों पर विचार करने को भी कहा है।

नई दिल्ली, एएनआइ। देश में बढ़ते ओमिक्रोन के खतरे को लेकर केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को कई दिशानिर्देश व उपाय दिए हैं। ओमिक्रोन के नए मामलों के रोकथाम को लेकर केंद्र ने राज्यों को रात में कर्फ्यू लगाने और बड़ी सभाओं के लिए सख्त नियम सुनिश्चित करने की सलाह दी है। साथ ही केंद्र ने राज्यों को क्रिसमस और नए साल के सेलिब्रेशन पर स्थानीय प्रतिबंधों पर विचार करने को भी कहा है। देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसको लेकर केंद्र ने इन राज्यों को विशेष दिशानिर्देश जारी करते हुए कहा कि यहां जल्द ही कोरोना का टीकाकरण पूरा किया जाए। केंद्र ने यह भी कहा कि जिन जिलों में कम टीकाकरण हुआ है, वहां ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए वंचित लोगों का जल्द टीकाकरण किया जाए।

ओमिक्रोन के मामलों में वृद्धि की चिंताओं को लेकर केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सतर्क रहने और मामले की सकारात्मकता दर की निगरानी करने की सलाह दी है। केंद्र ने राज्यों के जिलों में कोविड समूहों पर नजर रखने की भी सलाह दी है।

कंटेनमेंट जोन और बफर जोन अधिसूचित करें राज्य: केंद्र

केंद्र ने कहा है कि राज्य बड़े आयोजनों के लिए सख्त नियम लागू कर सकते हैं। कंटेनमेंट को लेकर राज्यों को सलाह दी गई है कि जहां ज्यादा मरीज मिल रहे हैं, वहां कंटेनमेंट जोन और बफर जोन अधिसूचित करें। केंद्र ने कहा कि राज्य पहले टीके की खुराक का 100 फीसदी टीकाकरण सुनिश्चित करें और फिर दूसरे डोज के पात्र लोगों को तेजी से वैक्सीन लगाए। 

ओमिक्रोन के खतरे के बीच पीएम मोदी आज करेंगे बैठक

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार शाम साढ़े छह बजे क्रिसमस और नए साल से पहले देश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए बैठक करेंगे। पीएम मोदी कोरोनो वायरस के ओमिक्रोन वैरिएंट के प्रसार को रोकने के लिए आगे के कदमों पर भी चर्चा करेंगे।