आने वाले दिनों में और बढ़ेगी ठंड, मैदानी इलाकों में कोहरे के साथ दिखेगा शीतलहर का कहर

 

शीतलहर के कारण बेहाल लोगों को अब कोहरे का सामना भी करना पड़ सकता है
मौसम विभाग के अनुसार आज आसमान में बादल छाए रहेंगे। पश्चिमी विक्षोभ बुधवार को हिमालय क्षेत्र में आ रहा है। 24 और 26 दिसंबर को भी दो पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में आने वाले हैं। इनके प्रभाव से गुरुवार से हवा का रुख बदलकर दक्षिण-पूर्वी होने के आसार हैं।

नई दिल्ली। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के बीच मैदानी क्षेत्रों में शीतलहर का सितम जारी है। दिल्ली समेत कई राज्यों में कंपाने वाली ठंड पड़ रही है। इस बीच पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से बुधवार से दिल्ली के मौसम में थोड़ा बदलाव होगा। मौसम विभाग के अनुसार, आज आसमान में बादल छाए रहेंगे। पश्चिमी विक्षोभ बुधवार को हिमालय क्षेत्र में आ रहा है। इसके साथ ही 24 और 26 दिसंबर को भी दो पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में आने वाले हैं। इनके असर से गुरुवार से हवा का रुख बदलकर दक्षिण-पूर्वी होने का उम्मीद है, जिस वजह बादल छाने लगेंगे और ठंड बढ़ेगी।

पंजाब में लगातार मौसम (Weather) का मिजाज बदलता जा रहा है। बुधवार को भी यहां तापमान में गिरावट आएगी, जिस  कारण ठिठुरन रहेगी। इसके अलावा आने वाले दो दिनों तक मौसम ऐसा ही रहेगा। शीतलहर का सितम झेल रहे लोगों को अब कोहरे का सामना भी करना पड़ सकता है।

वहीं, उत्तराखंड में आने वाले दिनों में भी शीतलहर का प्रकोप जारी रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, पहाड़ से लेकर मैदान तक सर्द हवाओं का दौर जारी रहने की आशंका है। केदारनाथ, औली, हर्षिल, मुक्तेश्वर आदि क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री के आसपास बने रहने की संभावना है। इसके अलावा उच्च हिमालय में बर्फबारी जारी रहेगी

आने वाले दिनों में बारिश की संभावना

स्काईमेट वेदर के मौसम विज्ञानी महेश पलावत का कहना है कि अगले आठ दिनों तक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय रहेगा। इस दौरान आसमान में बादल छाए रह सकते हैं, जिस कारण तापमान में तीन से चार डिग्री बढ़ोतरी होगी। इसके बाद 26 और 27 दिसंबर को न्यूनतम तापमान नौ से 10 डिग्री सेल्सियस पहुंच सकता है। 27 से 29 दिसंबर के बीच दिल्ली के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है। इसके बाद पश्चिम विक्षोभ का असर खत्म होगा और कोहरा शुरू हो सकता है।