अपने नेताओं को हिरासत में लिए जाने से भड़के किसान, मोदीनगर-हापुड़ मार्ग किया जाम

 

अपने नेताओं को हिरासत में लिए जाने से भड़के किसान, मोदीनगर-हापुड़ मार्ग किया जाम
दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे से प्रभावित क्षेत्र के किसानों की भोजपुर टोल पर बृहस्पतिवार को पंचायत प्रस्तावित थी लेकिन किसान नेताओं को सुबह ही पुलिस ने घरों में नजरबंद कर दिया।वहीं कई को हिरासत में ले लिया।

नई दिल्ली/गाजियाबाद/मोदीनगर, संवाददाता। राजधानी दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पुलिसकर्मियों में उस समय हड़कंप स्थिति पैदा हो गई, जब उन्हें मोदीनगर-हापुड़ मार्ग जाम करने की सूचना मिली। इसके बाद स्थल पर पहुंची पुलिस ने समझाबुझाकर जाम खत्म करवाया, दरअसल अधिकारियों के समझाने के बाद वे धरना खत्म करने पर राजी हुए।

संवाददाता से मिली जानकारी के मुतािबक, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे से प्रभावित किसानों की भोजपुर टोल पर बृहस्पतिवार पंचायत प्रस्तावित थी, लेकिन किसान नेताओं को सुबह ही पुलिस ने घरों में नजरबंद कर दिया।वहीं, कई को हिरासत में ले लिया। चूंकि किसानों ने सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मिलने की घोषणा की थी, इसलिए नितिन गडकरी से जाने के बाद किसान नेताओं को मुक्त किया गया। किसान नेताओं ने अधिकारियों को ज्ञापन देकर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी। किसान दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे में अधिग्रहीत हुई जमीन का एक समान मुआवजा मांग रहे हैं।

उधर, किसान नेताओं को नजरबंद व हिरासत में लिए जाने से नाराज होकर कुछ किसान भोजपुर टोल पर पहुंच गए। उन्होंने मोदीनगर-हापुड़ मार्ग को जाम कर दिया। अधिकारियों के समझाने पर किसान सड़क से हटे।