देश में बढ़ रहे ओमिक्रोन के मामले, कई राज्यों ने क्रिसमस और नए साल के जश्न पर लगाए ये प्रतिबंध

 


कोरोना के नए खतरे को लेकर केंद्र व राज्य सरकारें पूरी तरह अलर्ट
कई राज्यों ने ओमिक्रोन के खतरे के बीच क्रिसमस और नए साल पर पार्टियों में जाने से बचने को कहा है। कर्नाटक के सीएम ने मंगलवार को कहा कि हमने नए साल के सार्वजनिक उत्सव को प्रतिबंधित कर दिया है।

नई दिल्ली, एएनआइ। देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के मामले बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना के नए खतरे को लेकर केंद्र व राज्य सरकारें पूरी तरह अलर्ट हैं। पूरे देश में अब तक 220 से अधिक ओमिक्रोन के मामले पाए गए हैं। महाराष्ट्र और दिल्ली में सबसे अधिक ओमिक्रोन के मामले सामने आए हैं। कई राज्यों ने ओमिक्रोन के खतरे के बीच क्रिसमस और नए साल पर पार्टियों में जाने से बचने को कहा है। कर्नाटक के सीएम ने मंगलवार को कहा कि हमने नए साल के सार्वजनिक उत्सव को प्रतिबंधित कर दिया है। हालांकि, डीजे जैसे किसी विशेष कार्यक्रम के बिना 50 फीसद बैठने की क्षमता वाले क्लब और रेस्टोरेंट में समारोहों की अनुमति है। इस दौरान पूर्ण टीकाकरण अनिवार्य है। ये प्रतिबंध 30 दिसंबर से 2 जनवरी तक प्रभावी रहेंगे।

गुजरात के आठ राज्यों में लगा नाइट कर्फ्यू

गुजरात ने ओमीक्रोन के बढ़ते मामलों के बीच राज्य के 8 प्रमुख शहरों में 31 दिसंबर तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, वडोदरा, जामनगर, भावनगर, गांधीनगर और जूनागढ़ में साल के अंत तक यानी 31 दिसंबर 2021 की रात तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। नाइट कर्फ्यू का समय रात 1 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा।

मुंबई में धारा 144 लागू

इस बीच, ओमिक्रोन वैरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए बृहन्मुंबई महानगर पालिका परिषद (बीएमसी) ने लोगों से क्रिसमस और नए साल पर पार्टियों में जाने से बचने को कहा है। साथ ही महाराष्ट्र सरकार ने 31 दिसंबर की मध्यरात्रि तक मुंबई में धारा 144 लागू कर दी है। इस दौरान नए साल के जश्न को लेकर समुद्री बीच या पर्यटन स्थलों में पार्टी की अनुमति नहीं होगी। क्रिसमस और नए साल के जश्न में होने वाले डांस पार्टियां के फ्लोर को आधी क्षमता तक ही सीमित रखे जाने का निर्देश है। किसी भी उल्लंघन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। ओमिक्रोन के खतरे के बीच राज्य सरकार के ये प्रतिबंध उन लोगों के कारोबार को प्रभावित करेगा जो साल के अंत में त्योहारी सीजन की प्रतीक्षा कर रहे थे। अभी तक ओमिक्रोन के जितने भी मामले सामने आए हैं, उनमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र से ही हैं। 

महाराष्ट्र और मुंबई में सबसे ज्यादा ओमिक्रोन के मामले

देशभर में ओमिक्रोन के मामले बढ़कर 220 हो गए हैं। मंगलवार को ओमिक्रोन के 18 नए मामले सामने आए हैं। दिल्ली में 6, कर्नाटक में पांच, केरल में चार और गुजरात में तीन नए मामले सामने आए हैं। देश के 12 राज्यों में ओमिक्रोन के मामले दर्ज किए गए हैं। महाराष्ट्र और दिल्ली में ओमिक्रोन के सबसे अधिक 54 मामले हैं।