लुधियाना कोर्ट में विस्फोट के बाद पंजाब सरकार अलर्ट, गृह मंत्रालय ने मांंगी राज्य सरकार से रिपोर्ट

 

लुधियाना ब्लास्ट के बाद घटनास्थल पर पहुंच रहे सीएम चन्नी।
 पंजाब की लुधियाना कोर्ट में विस्फोट के बाद सरकार अलर्ट हो गई है। सीएम चरणजीत सिंह चन्नी मौके पर पहुंच रहे हैं। सीएम ने कहा कि चुनाव से पहले ऐसी घटनाओं को अंजाम देने के पीछे राज्य का माहौल बिगाड़ना है।

एएनआइ, लुधियाना/चंडीगढ़। लुधियाना कोर्ट में विस्फोट के बाद पंजाब सरकार अलर्ट हो गई है। पीटीआइ के मुताबिक विस्फोट में अभी तक दो लोगों की मौत की सूचना है, जबकि चार लोग घायल हो गए हैं। हालांकि सरकार के मुताबिक एक ही व्यक्ति की मौत हुई है। घटना के बाद सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि वह मौके पर जा रहे हैं। कहा कि विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही कुछ राष्ट्रविरोधी तत्व ऐसी हरकत कर रहे हैं। सरकार अलर्ट पर है। दोषी पाए जाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा व डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय मौके पर पहुंच गए हैं। इस बीच गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से विस्फोट मामले की रिपोर्ट मांगी है। 

घटनास्थल पर पहुंचे उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने पुलिस अधिकारियों से जानकारी ली और जल्द मामले की जांच करने के निर्देश दिए। रंधावा ने कहा कि मामले में शामिल लोगों को जल्द पकड़ा जाएगा। रंधावा ने कहा कि ब्लास्ट में 1 व्यक्ति की मौत हुई है, 4 लोग घायल हुए हैं। घायलों में एक एडवोकेट, एक पुलिसकर्मी और 2 महिलाएं हैं। फोरेंसिक टीम पहुंच गई है। विस्फोट की जांच चल रही है।डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय ने भी पुलिस अधिकारियों को दिशानिर्देश दिए। मौके से क्षत विक्षत शव मिला है। पुलिस इस एंगल पर भी जांच कर रही है कि कहीं यह मानव बम तो नहीं। एंटी सेबोटाइज्ड टीम और बम डिस्पोजल टीम घटनास्थल पर पहुंचकर जांच कर रही हैं।

jagran

घटनास्थल पर पहुंचे डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा।

पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर का कहना है कि घटना में सभी चार घायल खतरे से बाहर हैं। जिन अस्पतालों में उन्हें भर्ती करवाया गया है, उनसे लगातार संपर्क में हैं। वहीं, कोर्ट कांप्लेक्स में हुए बम विस्फोट की जांच के लिए नेशनल सिक्योरिट गार्ड (एनएसजी) की टीम दिल्ली से लुधियाना पहुंच रही है। उपमुख्यमंत्री ओपी सोनी ने कहा कि लुधियाना ब्लास्ट के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ। हम इस घटना के लिए जिम्मेदार किसी को भी नहीं बख्शेंगे। हम किसी को भी राज्य में शांति भंग करने की इजाजत नहीं देंगे। इस विस्फोट में चली गई कीमती दो जिंदगियों के लिए प्रार्थना करें।

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि लुधियाना कोर्ट में विस्फोट इस बात में कोई संदेह नहीं छोड़ता है कि पंजाब में कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा करने के लिए निहित स्वार्थों द्वारा शांति भंग करने वाली गतिविधियों की एक श्रृंखला की योजना बनाई गई है। अपनी जान गंवाने वालों के प्रति संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।

आप प्रमुख व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी घटना की निंदा की। ट्वीट केजरीवाल ने लिखा कि पहले बेअदबी, अब ब्लास्ट। कुछ लोग पंजाब की शांति भंग करना चाहते हैं। पंजाब के 3 करोड़ लोग इनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। हमें एक-दूसरे का हाथ पकड़कर रखना है। खबर सुनकर दुख हुआ, मृतकों के परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं एवं सभी घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

पुलिस के मुताबिक धमाका कोर्ट परिसर की दूसरी मंजिल पर रिकार्ड रूम के पास हुआ है। इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई। चंडीगढ़ से बम निरोधक टीम और फोरेंसिक टीम को जांच के लिए बुलाया गया है। पुलिस ने लोगों के पेनिक न होने को कहा है। लुधियाना में पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है।  

घटना की शिअद प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने भी निंदा की है। कहा कि पंजाब पुलिस इस समय सिर्फ और सिर्फ अकाली नेताओं पर केस दायर करने पर ही काम कर रही है और उनका ला एंड आर्डर पर कोई ध्यान नहीं है। इसी कारण इस तरह की घटनाएं हो रही हैं। उन्होंने डीजीपी से कहा कि वह सियासी बदलाखोरी में न पड़ें, बल्कि ला एंड आर्डर पर ध्यान दें।