दिल्ली वीकेंड कर्फ्यू : रात 10 बजे से शुरू होगी 55 घंटे की पाबंदी, जानिये किसे मिली आवागमन की छूट

 

शुक्रवार रात 10 बजे से शुरू होगा 55 घंटे का वीकेंड कर्फ्यू, जानिये किसे मिली आवागमन की छूट

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) आदेश जारी कर चुका है कि शनिवार और रविवार को वीकेंड कर्फ्यू के दौरान क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा? इसके अलावा किसे छूट मिल रही है और किसे नहीं?

नई दिल्ली । राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते बेतहाशा मामलों के मद्देनजर शुक्रवार रात 10 से 55 घंटे का वीकेंड कर्फ्यू शुरू होगा, जो सोमवार सुबह 5 बजे खत्म होगा।  इसको लेकर दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) आदेश जारी कर चुका है कि शनिवार और रविवार को वीकेंड कर्फ्यू के दौरान क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा? इसके अलावा किसे छूट मिल रही है और किसे नहीं? 

  • मेट्रो व बसें 100 प्रतिशत क्षमता से चलेंगीं। इस दौरान दो ट्रेनों के बीच फेरों के समय में 15-20 का अंतर रहेगा। 
  • आवश्यक सामान लाने के लिए गाड़ियों का अवागमन जारी रहेगा, इसके लिए अलग से पास बनाने की जरूरत नहीं होगी।
  • इमरजेंसी सेवा में काम कर रहे अधिकारियों को आइ कार्ड दिखाने पर इस कर्फ्यू से छूट मिलेगी।

1. इमरजेंसी व आवश्यक सेवा के लिए काम कर रहे अधिकारी

2. भारत सरकार के अधिकारी

3. जज, एडवोकेट, कोर्ट या ट्रिब्यूनल में काम करने वाले कर्मचारी (आइ कार्ड दिखाने पर)

4. दूतावास में काम करने वाले अधिकारी5. डाक्टर, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, मेडिकल आक्सीजन सप्लायर, डायग्नॉस्टिक सेंटर व टेस्ट लैब के कर्मचारी, सफाई कर्मचारी और सिक्योरिटी कर्मचारी

6. किसी भी परीक्षा देने जा रहे छात्र को एडमिट कार्ड दिखाने पर मिलेगी छूट

7. कोविड जांच के लिए जाने वाले लोगों को मिलेगी छूट

8. इलेक्ट्रानिक व प्रिंट मीडिया कर्मी

9. एयरपोर्ट या रेलवे स्टेशन जाने वाले या वापस आने वालों को टिकट दिखाने पर

10. शादी समारोह में शामिल होने वाले बीस व्यक्तियों को मिलेगी छूट। 

चार्टर्ड अकाउंटेंट और इन्कम टैक्स प्रैक्टिशनर्स को कर्फ्यू से छूट

कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए राजधानी में लगाए गए दो दिवसीय वीकेंड कफ्र्यू एवं नाइट कफ्र्यू के दौरान अब चार्टर्ड अकाउंटेंट एवं इन्कम टैक्स प्रैक्टिशनर्स को छूट रहेगी।दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने अब इन दोनों पेशवरों को छूट वाली श्रेणी में शामिल कर लिया है। डीडीएमए ने इस संबंध में बृहस्पतिवार को एक आदेश जारी कर कहा है कि केंद्र सरकार के वित्तमंत्रालय के अधीन आने वाले राजस्व विभाग के सेंट्रल बोर्ड आफ डायरेक्ट टैक्सेज द्वारा इन दोनों कैटेगरी को एक्जेंपटेड कैटेगरी में शामिल करने का अनुरोध किया गया था। इस मांग पर विचार करते हुए इन दोनों प्रोफेशनलों को एक्जेंपटेड कैटेगरी में शामिल किया जाता है।