दिल्ली में रफ्तार भरेंगी 100 सीएनजी बसें, जानिये- रूट और किन इलाके के लोगों को मिलेगा फायदा

 

दिल्ली में रफ्तार भरेंगी 100 सीएनजी बसें, जानिये- रूट और किन इलाके के लोगों को मिलेगा फायदा

शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजघाट डिपो से इन्हें जनता को करेंगे समर्पित। इसके जुड़ने से दिल्ली में बसों की संख्या कुल मिलाकर 6782 से बढ़कर 6882 हो जाएगी। जुड़ने जा रहीं 100 बसें जेबीएम कंपनी की हैं।

नई दिल्ली ,surender aggarwal । राजधानी दिल्ली को जल्द 100 सीएनजी बसों का तोहफा मिलेगा। इसकी शुरुआत शुक्रवार से होगी और धीरे-धीरे सभी 100 बसें दिल्ली की सड़कों पर होंगीं। क्लस्टर सेवा के तहत आ चुकी ये बसें सड़कों पर जल्द ही रफ्तार भरती दिखेंगीं और इन्हें सड़क पर उतारने की प्रक्रिया भी हो गई है पूरी। शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजघाट डिपो से इन्हें जनता को करेंगे समर्पित। इसके जुड़ने से दिल्ली में बसों की संख्या कुल मिलाकर 6782 से बढ़कर 6882 हो जाएगी। जुड़ने जा रहीं 100 बसें जेबीएम कंपनी की हैं। दिल्ली की सड़कों पर 14 जनवरी से अत्याधुनिक सुविधाओं वाली 100 नई बसें चलने लगेंगी। 12 मीटर लो फ्लोर एसी नई सीएनजी बसों के रूट भी फाइनल कर दिए गए हैं। इन बसों को ग्रामीण इलाकों से भी जोड़ा जा रहा है ताकि जहां पर बसों की कमी है, वहां पर लोगों को बसें आसानी से मिल सकें।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत का कहना है कि सड़कों पर लाई जा रही नई बसों में जीपीएस, पैनिक बटन, सीसीटीवी, आपातकाल के दौरान लाइव वीडियो स्ट्री¨मग जैसी सभी आधुनिक सुविआएं होंगी। बीएस 6 कैटिगरी की बसें होंगी और दिव्यांगजनों के लिए रैंप की सुविधा भी होगी। महिलाओं के लिए पिंक सीट होगी।

कैलाश गहलोत ने विभाग को निर्देश दिए थे कि दिल्ली में जहां- जहां बसों की कमी की परेशानी सामने आ रही है, उन सभी जगहों को नई बसों से कवर किया जाएगा। दिल्ली में अब जल्द ही इलेक्टि्रक बसों के आने का सिलसिला भी शुरू होगा। जल्द ही डीटीसी की एक इलेक्टि्रक बस को ट्रायल के तौर पर आईटीओ के आसपास चलाया जाएगा। जिन नौ बस रूट पर इन बसों को चलाया जाएगा। उनसे ग्रामीण और बाहरी दिल्ली के इलाकों को भी कवर किया जा रहा है।

17 से 40 किमी तक लंबे होंगे इन बसों के रूट 

  • रूट नंबर 892 (छावला स्कूल से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन गेट नंबर-दो) के 37 किमी लंबे रूट पर आठ बसें चलाई जा रही है।
  • एयरपोर्ट एक्सप्रेस-08 (नजफगढ़ टर्मिनल-आइजीआई एयरपोर्ट टी-2) के 39.40 किमी लंबे रूट पर भी आठ बसें चलाई जाएंगी।
  • रूट नंबर 567 (कमरूद्दीन नगर टर्मिनल- सराय काले खां) के 30 किमी लंबे रूट पर 22 नई बसों को लाया जा रहा है।
  • 926 (टीकरी बार्डर-पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन) के 30.30 किमी लंबे रूट पर 20 बसों को लाने की तैयारी की गई है।
  • 219 (कमरूद्दीन नगर टर्मिनल-पुरानी दिल्ली रेलव स्टेशन) के 19.90 किमी लंबे रूट पर आठ बसें होंगी। 964 (सरस्वती विहार वाटर टैंक-नेहरू प्लेस टर्मिनल) के 35.20 किमी के रूट पर 10 बसें होंगी।
  • रूट नंबर 849 (कमरूद्दीन नगर टर्मिनल- तिलक नगर) के 18.40 किमी के रूट पर 5 बसें होंगी। रूट नंबर 962 (कंझावला गांव- केंद्रीय टर्मिनल) का रूट 30 किमी का होगा और इस रूट पर नौ बसें होंगी।
  • 940 (मंगोलपुरी क्यू ब्लाक- शिवाजी स्टेडियम) के 25.40 किमी के रूट पर 10 बसें होंगी।