आस्ट्रेलिया में कोरोना का प्रकोप, संक्रमण के मामले 10 लाख के पार

 

आस्ट्रेलिया में कोरोना का प्रकोप, संक्रमण 10 लाख के पार

आस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। देश में वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन भी अपने चरम पर है। प्रधान मंत्री स्काट मारिसन ने सोमवार को कहा‌ कि वायरस के मामले 10 लाख के पार हो गए हैं।

सिडनी, रायटर। आस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। वायरस के मामलों में हर नए दिन भारी उछाल आ रहा है। दैनिक मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी‌ से अस्पतालों और जांच केंद्रों पर दबाव बढ़ता जा रहा है। वहीं कोरोना वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश में वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रोन भी अपने चरम पर है। प्रधान मंत्री स्काट मारिसन ने सोमवार को कहा‌ कि वायरस के मामले 10 लाख के पार हो गए हैं, जो पिछले सप्ताह की तुलना में आधे से अधिक है।

लगातार मामलों में हो रही वृद्धि से स्वास्थ्य प्रणाली पर दबाव गहराता जा रहा है। आपको बता दें कि मामले इतने बढ़ गए हैं की वायरस की परीक्षण सुविधाएं भी चरमरा गई हैं। हालांकि सख्त लाकडाउन और कड़े सीमा नियंत्रण से पहली महामारी में संक्रमण पर कंट्रोल किया गया था। वहीं आस्ट्रेलिया अब उच्च टीकाकरण दरों के बाद भी वायरस के साथ अपने प्रयास में रिकार्ड संक्रमण से जूझ रहा है। अस्पतालों में भर्ती लोगों की संख्या बढ़ती ही जा रही है, जो महामारी का एक नया शिखर बन गई है। वहीं देश बढ़ते मामलों के कारण कर्मचारियों की कमी से जूझ रहा है। बता दें इससे पहले पिछले सितंबर में डेल्टा वैरिएंट की लहर के दौरान सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए थे।

प्रधान मंत्री स्काट मारिसन ने कहा

प्रधान मंत्री ने राजधानी कैनबरा में एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा, 'ओमाइक्रोन एक गियर परिवर्तन है और हमें इसे आगे बढ़ाना है। आपके पास यहां दो विकल्प हैं, आप आगे बढ़ सकते हैं या आप लाकडाउन कर सकते हैं और हम आगे बढ़गे।' मारिसन ने कहा कि भले ही आस्ट्रेलिया महामारी के गंभीर से दौर से गुजर रहा है, लेकिन स्वास्थ्य प्रणाली मुकाबला कर रही है।3,500 से अधिक लोग अस्पताल में हैं, जो एक सप्ताह पहले लगभग 2 हजार थे। रायटर्स टैली के डेटा से पता चला है कि आस्ट्रेलिया का संक्रमण सोमवार को 10 लाख को पार कर गया है। वहीं वायरस से मरने वालों की संख्या 2,387 है, हालांकि ओमिक्रोन वैरिएंट की लहर ने पिछले प्रकोपों की तुलना में कम मौतें की हैं।