देश में कोरोना की दैनिक संक्रमण दर 15 फीसद के करीब, दो हफ्ते में 13 प्रतिशत से ज्यादा का उछाल, दिल्‍ली में 24,383 नए मामले

 

कोरोना महामारी की तीसरी लहर में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

कोरोना महामारी की तीसरी लहर में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। नए साल के पहले दिन दैनिक संक्रमण दर जहां दो प्रतिशत थी वहीं अब यह 15 प्रतिशत के करीब पहुंच गई है यानी दो हफ्ते में इसमें 13 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है।

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की तीसरी लहर में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। नए साल के पहले दिन दैनिक संक्रमण दर जहां दो प्रतिशत थी वहीं अब यह 15 प्रतिशत के करीब पहुंच गई है यानी दो हफ्ते में इसमें 13 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में दैनिक संक्रमण दर 30 प्रतिशत के करीब पहुंच गई है। साप्ताहिक संक्रमण दर भी दो अंकों में पहुंच गई है। प्रतिदिन सामने आ रहे नए मामलों की संख्या तो पिछले कुछ दिनों से तेज रफ्तार से बढ़ ही रही है जिसके परिणामस्वरूप सक्रिय मामले भी अपने 220 दिन के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं।

दिल्‍ली में 24,383 नए मामले

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 24,383 नए मामले सामने आए जबकि संक्रमण से 34 लोगों की मौत हो गई। दिल्‍ली में 92,273 एक्टिव केस हैं। वहीं उत्तराखंड में आज कोरोना वायरस के 3,200 नए मामले सामने आए जबकि महामारी से तीन लोगों की मौत हुई है।

दैनिक संक्रमण दर 14.78 प्रतिशत पर

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक इस समय दैनिक संक्रमण दर 14.78 प्रतिशत पर पहुंच गई है जबकि साप्ताहिक संक्रमण दर 11.83 प्रतिशत दर्ज की गई है। एक जनवरी को दैनिक संक्रमण दर 2.05 प्रतिशत और साप्ताहिक संक्रमण दर 1.10 प्रतिशत थी।

नए मरीजों में अब तक 11 गुना वृद्धि

कोरोना संक्रमण के हर मोर्चे पर तीसरी लहर का प्रभाव दिख रहा है। अगर हम सिर्फ जनवरी की बात करें तो प्रतिदिन मिलने वाले नए मरीजों में अब तक 11 गुना वृद्धि हुई है। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 2,64,202 नए मरीज पाए गए हैं जबकि एक जनवरी को मात्र 22,775 नए मामले मिले थे।

0.30 प्रतिशत से बढ़कर 3.48 प्रतिशत हुए सक्रिय मामले

नए मामलों में बढ़ोतरी जैसी तेजी सक्रिय मामलों में भी देखने को मिल रही है। इस समय सक्रिय मामले बढ़कर 12,72,073 हो गए हैं जो 220 दिन में सबसे ज्यादा और कुल मामलों का 3.48 प्रतिशत है। एक जनवरी को सक्रिय मामले 1,04,781 और कुल मामलों का मात्र 0.30 प्रतिशत ही रह गए थे।

कोरोना से मौतों के मामले में कुछ राहत

कोरोना महामारी की तीसरी लहर में संक्रमितों की तेजी से बढ़ती संख्या तो डरा रही है, लेकिन मौत के मामलों में कुछ राहत है। पिछले एक दिन में 315 लोगों की जान गई है। दूसरी लहर में यानी पिछले साल अप्रैल-मई में जब प्रतिदिन दो लाख से ज्यादा नए मामले मिल रहे थे तब रोज डेढ़ हजार से ज्यादा मौतें हो रही थीं। इस समय मृत्युदर में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है जो अभी 1.33 प्रतिशत है।

ओमिक्रोन से बदल सकते हैं हालात

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के चलते आई तीसरी लहर में हालात के तेजी से बदलने की भी आशंका जताई जा रही है। इसकी मुख्य वजह ओमिक्रोन के बढ़ते मामले हैं। पिछले एक दिन में नए मामलों में 6.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और इसकी मुख्य वजह ओमिक्रोन को ही माना जा रहा है। अभी तक तक देश में ओमिक्रोन के कुल 5753 मामले पाए गए हैं।

दो तिहाई में ओमिक्रोन वैरिएंट

भले ही अभी तक देश में ओमिक्रोन के कुल 5753 मामलों की ही पुष्टि हुई है सच तो यह है कि नए मामलों में दो तिहाई से भी ज्यादा इसी के केस हैं। चूंकि जीनोम सीक्वेंसिंग के जरिये ही ओमिक्रोन की पुष्टि हो रही है और सभी संक्रमितों की जीनोम सीक्वेंसिंग संभव नहीं है क्योंकि यह एक लंबी प्रक्रिया है। परंतु, जितने भी मामलों की जीनोम सीक्वेंसिंग कराई जा रही है उनमें दो तिहाई में ओमिक्रोन वैरिएंट पाया जा रहा है।