पहले दिन का लंच, टीम इंडिया ने 2 विकेट पर 75 रन बनाए

 

टीम इंडिया के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा। (फोटो- एएनआइ)

 भारत ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है। टीम में दो बदलाव हुए हैं। हनुमा विहारी की जगह विराट कोहली आए हैं और सिराज की जगह उमेश को मौका मिला है।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क।  भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा व आखिरी मुकाबला केपटाउन में खेला जा रहा है। भारत ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है। पहले दिन लंच में टीम इंडिया ने 2 विकेट के नुकसान पर 75 रन बना लिए थे। चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली क्रीज पर मौजूद।

भारत की बल्लेबाजी टीम इंडिया को केएल राहुल और मयंक अग्रवाल ने सधी हुई शुरुआत दिलाई। दोनों के बीच 31 रनों की साझेदारी हुई। पहला झटका राहुल के तौर पर लगा। उन्होंने 12 रन बनाए। डुआने ओलिवर उन्हें आउट किया। अगले ही ओवर में मयंक अग्रवाल को कगीसो रबादा ने 15 रन पर पवेलियन भेज दिया। 

भारतीय टीम में दो बदलाव

टीम में दो बदलाव हुए हैं। कप्तान विराट कोहली के आने से हनुमा विहारी बाहर हो गए हैं। वहीं चोटिल मोहम्मद सिराज की जगह उमेश यादव को मौका मिला है।  दक्षिण अफ्रीकी टीम में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

भारत की प्लेइंग इलेवन

केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, रिषभ पंत (विकेटकीपर), आर अश्विन, शार्दुल ठाकुर, मो. शमी, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव। 

साउथ अफ्रीका की प्लेइंग इलेवन

डीन एल्गर, एडेन मार्करम, कीगन पीटरसन, वेन डेर डुसेन, तेंबा बावुमा, काइल वेरेने, मार्को जानसेन, कगीसो रबादा, केशव महाराज, लूंगी नगीडी, डुआने ओलिवर।

सीरीज 1-1 से बराबर

इस टेस्ट सीरीज में दोनों टीमें एक-एक की बराबरी पर है और सीरीज जीतने की दृष्टिकोण से ये मुकाबला दोनों टीमों के लिए काफी अहम होगा। भारत को साउथ अफ्रीका की धरती पर पहली बार टेस्ट सीरीज जीतने के लिए इस मैच में जीत दर्ज करना बेहद जरूरी है। अगर भारत इस मुकाबले को गंवा देता है तो उसका ये सपना टूट सकता है। भारतीय कप्तान विराट कोहली पूरी तरह से फिट हैं और वो टीम की कप्तानी करेंगे।

भारतीय बल्लेबाजों को बनाने होंगे रन

केपाटाउन में तेज गेंदबाजों को मदद मिलती है और ऐसे में टीम इंडिया के बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा होगी। जोहानिसबर्ग टेस्ट में कुछ भारतीय बल्लेबाजों ने रन बनाने में सफलता हासिल की थी, लेकिन अन्य ने निराश किया था। टीम इंडिया को इस मैच में जीतन के लिए रन बनाने ही होंगे। इसके अलावा भारतीय खिलाड़ियों को बड़ी साझेदारी करने की भी जरूरत है जिससे कि एक अच्छा स्कोर बन सके। रिषभ पंत को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी क्योंकि निचले क्रम पर उनके द्वारा रन नहीं बनाने का खमियाजा टीम भुगत रही है।

वहीं भारतीय गेंदबाजों की बात करें तो उन्हें अपनी रणनीति में कुछ बदलाव करने की जरूरत है जिससे कि वो डीन एल्गर व तेंबा बावूमा जैसे बल्लेबाजों को जल्दी आउट कर सकें। भारतीय बल्लेबाजों को साउथ अफ्रीकी तेज गेंदबाजों को संभलकर खेलने की जरूरत है क्योंकि वो अपनी लंबाई का फायदा उठाते हुए उन्हें परेशान कर रहे हैं। साउथ अफ्रीका की बल्लेबाजी की बात करें तो कुछेक बल्लेबाजों को छोड़कर उनमें ज्यादा दम नहीं आता, लेकिन वो बेहतरीन गेंदबाजी को दम पर भारत को ज्यादा रन बनाने से रोक रहे हैं। पिछले मैच में भी ऐसा ही देखने को मिला। इसके अलावा भारतीय गेंदबाजों को डीन एल्गर को निशाना बनाने की जरूरत है जो शानदार फार्म में आ चुके हैं रन बना रहे हैं। 

केपटाउन में भारत का प्रदर्शन निराश करने वाला

केपटाउन में भारतीय टीम का टेस्ट रिकार्ड अब तक अच्छा नहीं रहा है। साल 1993 से लेकर अब तक भारत ने इस मैदान पर पांच टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उसे तीन मैचों में हार मिली है जबकि दो मैच ड्रा रहे हैं। भारत ने यहां पर अपना आखिरी टेस्ट मैच विराट कोहली की कप्तानी में ही खेला था जिसमें उसे हार मिली थी। ऐसे में टीम इंडिया की कोशिश होगी कि वो इस मैदान पर जीत के साथ अपने पिछले प्रदर्शन को बेहतर करने की कोशिश करे।