राजधानी में कड़ाके की ठंड, दिल्ली समेत आठ राज्यों में शीतलहर का अलर्ट, जानें- अगले 2 दिन कैसा रहेगा मौसम

 

राजधानी दिल्ली में भीषण ठंड (फोटो एएनआई)

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली समेत आठ राज्यों में शीतलहर की चेतावनी जारी की है। दिल्ली पंजाब हरियाणा चंडीगढ़ पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अगले 2 दिनों के दौरान और अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग इलाकों में शीत लहर की आशंका है।

नई दिल्ली, एजेंसी। पहाड़ी इलाकों से आ रही बर्फीली हवाओं के कारण उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी इलाके शीतलहर की चपेट में हैं। इस कड़ी में दिल्ली-एनसीआर में भी कड़ाके की ठंड का दौर जारी है। बीते 24 घंटे में न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन कम 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, आगामी तीन दिनों में पश्चिम विक्षोभ की सक्रियता की वजह से शीतलहर का दौर खत्म होगा व बारिश की संभावना बनी हुई है। 

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली समेत आठ राज्यों में शीतलहर की चेतावनी जारी की है। दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अगले 2 दिनों के दौरान और अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग इलाकों में शीत लहर की आशंका है।

उत्तर भारत में अगले 2 दिन हिमपात व बारिश के आसार

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी हिमालयी इलाकों में हल्की बारिश के साथ बर्फबारी होने से तापमान में भारी गिरावट की संभावना है। मौसम विभाग कहा कि उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में 4-5 जनवरी को हल्की से मध्यम बारिश के आसार नजर आ रहे है। मौसम विभाग यानी आईएमडी ने उत्तर-पश्चिमी भारत में तीन जनवरी तक शीतलहर से भीषण शीतलहर की स्थिति रहने का अनुमान व्यक्त किया है। मौसम विभाग ने सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण चार जनवरी से न्यूनतम तापमान में वृद्धि का अनुमान जताया है, जिसके कारण चार से सात जनवरी के बीच जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में भारी वर्षा और हिमपात हो सकता है। मौसम विभाग ने कहा है कि पांच से सात जनवरी के बीच पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश होने का भी अनुमान है।

मैदानी इलाकों में, आईएमडी न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने पर शीतलहर की घोषणा करता है। अधिकतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस और सामान्य से 4.5 डिग्री कम होने पर भी शीतलहर घोषित की जाती है। अगले 4-5 दिनों के दौरान पूर्वी भारत में न्यूनतम तापमान में 3-5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट हो सकती है। अगले 3-4 दिनों के दौरान गुजरात में न्यूनतम तापमान में 2-4 डिग्री सेल्सियस बढ़ सकता है। 4-7 जनवरी के दौरान जम्मू-कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र में बर्फबारी की संभावना है।

स्काईमेट वेदर के मुताबिक आज गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों और उत्तराखंड के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात हो सकता है। तमिलनाडु के तटीय इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। रायलसीमा, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश और आंतरिक तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। केरल, दक्षिण भारत कर्नाटक और लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश की संभावना है।उत्तर पश्चिमी भारत में न्यूनतम तापमान में वृद्धि या मामूली वृद्धि होने की संभावना है। पूर्वी भारत के न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री की गिरावट आ सकती है।

यूपी में घना कोहरा और शीत लहर का कहर

उत्तर प्रदेश में घने कोहरे और शीत लहर के कारण कानपुर में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं।एक व्यक्ति ने बताया कि बहुत ज़्यादा ठंड है। ठंड से बचने के लिए हम कूड़े और बोरियां लाकर उसे जलाते हैं और आग तापते हैं। बहुत दिक्कतें हो रही हैं।

प्रयागराज में ठंड के चलते शहर में घना कोहरा देखने को मिला। कोहरे के चलते लोगों को काफी दिक्कत हो रही है।