2022 में 19000 तक पहुंच जाएगा Nifty 50, ब्रोकरेज हाउस ने की भविष्‍यवाणी

 

ब्रोकरेज कंपनी बैंक ऑफ अमेरिका (बोफा) सिक्योरिटीज इंडिया ने दी रिपोर्ट। (Pti)

भारतीय शेयर बाजार में वर्ष 2020 के मध्य से जारी तेजी का दौर शायद जारी न रह पाए क्योंकि नए साल में सुधारों के कई दौर देखने को मिलेंगे। ब्रोकरेज फर्म ने रिपोर्ट में बीएसई सूचकांक सेंसेक्स के बारे में कोई पूर्वानुमान नहीं जताया है।

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। भारतीय शेयर बाजार वर्ष 2022 में मौजूदा स्तर से करीब 9 प्रतिशत तक बढ़ सकता है और निफ्टी के दिसंबर अंत तक 19,000 के स्तर तक पहुंचने की उम्मीद है। ब्रोकरेज कंपनी बैंक ऑफ अमेरिका (बोफा) सिक्योरिटीज इंडिया ने कहा है कि भारतीय शेयर बाजार में वर्ष 2020 के मध्य से जारी तेजी का दौर शायद जारी न रह पाए क्योंकि नए साल में सुधारों के कई दौर देखने को मिलेंगे। ब्रोकरेज फर्म ने रिपोर्ट में बीएसई सूचकांक सेंसेक्स के बारे में कोई पूर्वानुमान नहीं जताया है।

बोफा सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक अमीश शाह ने कहा कि जून 2020 से शुरू होकर अक्टूबर 2021 तक चला बाजार में तेजी का दौर शायद इस साल कायम नहीं रह पाए और बाजार का रिटर्न नौ प्रतिशत तक सीमित रह सकता है। उन्होंने कहा कि निफ्टी दिसंबर, 2022 के अंत में 19,100 अंक पर रह सकता है।

उन्होंने कहा कि भारतीय शेयर बाजार का मूल्यांकन उभरते बाजारों के अनुपात में करीब 28 फीसदी अधिक है जबकि वैश्विक बाजारों की तुलना में यह 22 प्रतिशत ज्यादा है। इसके बावजूद घरेलू कंपनियों के शेयर आकर्षक बने रहेंगे और यह ताइवान के बाद दूसरा सबसे ज्यादा रिटर्न दे सकता है।

बोफा सिक्योरिटीज इंडिया के मुताबिक, कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन की वजह से महामारी की नई लहर विश्व अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा खतरा पेश कर रही है। ऐसी स्थिति में केंद्रीय बैंक मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए तरलता सुविधा को उम्मीद से कहीं जल्द सख्त कर सकते हैं।

शाह ने कहा कि जून से नीतिगत दरों मे 0.25 प्रतिशत की कम-से-कम चार बार वृद्धि हो सकती है। इसके अलावा रुपया भी अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 77 प्रति डॉलर के स्तर तक जा सकता है। यह भी अनुमान है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया इस साल प्रमुख ब्‍याज दरों में 100 बेसिस प्‍वाइंट की बढ़ोतरी कर सकता है।