दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज, पॉजिटिविटी रेट 2.44 प्रतिशत दर्ज

 

दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने जानकारी दी है कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 1796 मामले दर्ज किए गए हैं और पॉजिटिविटी रेट 2.44% है। हालांकि कोविड से किसी की मौत होने की पुष्टि नहीं हुई है।

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो । दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। सरकार की लाख पाबंदियों के बाद भी संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने जानकारी दी है कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 1796 मामले दर्ज किए गए हैं और पॉजिटिविटी रेट 2.44% है। दरअसल, राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर 1.73 फीसद से बढ़कर 2.44 फीसद हो गई है।

इससे शुक्रवार को कोरोना के 1796 मामले आए, जो पिछले करीब साढ़े सात माह (223 दिन) में सर्वाधिक हैं। इससे पहले पिछले साल 22 मई को दूसरी लहर के दौरान 2260 मामले आए थे। वहीं 24 घंटे में कोरोना के 467 मरीज ठीक हुए। थोड़ी राहत की बात यह है कि पिछले तीन दिन में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है। दिल्ली में सक्रिय मरीजों की संख्या साढ़े चार हजार के करीब पहुंच गई है।

दिसंबर में आए कुल 7277 मामले: दिल्ली में कोरोना के कुल 7277 मामले दिसंबर में आए। इसमें से 6853 मामले पांच दिसंबर के बाद आए हैं। पांच दिसंबर को ही दिल्ली में ओमिक्रोन का पहला मामला सामने आया था। तब संक्रमण दर 0.11 प्रतिशत थी। इस दिन की तुलना में संक्रमण दर अब तक करीब 22 गुना बढ़ चुकी है। इस दौरान 2804 मरीज ठीक हुए हैं। जून 2021 में कोरोना के कुल 7948 मामले आए थे। इसके पांच माह बाद दिसंबर में सर्वाधिक मामले आए हैं।

26 दिनों में करीब 12 गुना बढ़े सक्रिय मरीज: दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 73,590 सैंपल की जांच हुई। इसमें से 2.44 फीसद सैंपल पाजिटिव पाए गए। संक्रमण बढ़ने के कारण दिल्ली में सक्रिय मरीजों की संख्या 3081 से बढ़कर 4410 हो गई है। पांच दिसंबर को 370 सक्रिय मरीज थे। इसकी तुलना में अब सक्रिय मरीजों की संख्या करीब 12 गुना बढ़ चुकी है।

अस्पतालों में आक्सीजन सपोर्ट पर हैं 82 मरीज

मौजूदा समय में अस्पतालों में 226 मरीज भर्ती हैं। इसमें से 40 मरीज कोरोना के संदिग्ध और 186 कोरोना के मरीज हैं। कोरोना पाजिटिव 27 मरीज एयरपोर्ट से अस्पतालों में भर्ती किए गए। अस्पतालों में भर्ती 24 मरीज दिल्ली के बाहर के हैं। 101 मरीजों को हल्का लक्षण है। 82 मरीज आक्सीजन सपोर्ट पर और तीन मरीज वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। इस लिहाज से अस्पतालों में भर्ती 36.28 प्रतिशत मरीज आक्सीजन सपोर्ट पर हैं। मौजूदा समय में 2284 मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

राजधानी में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। शुक्रवार को भी 57 नए मामले आए। दिल्ली में ओमिक्रोन के अब तक कुल 316 मामले हो चुके हैं। जिसमें से 57 मरीज ठीक हो चुके हैं। एक दिन पहले तक दिल्ली में ओमिक्रोन के 263 मरीज थे। डाक्टर कहते हैं कि ओमिक्रोन के ज्यादातर मरीजों में बीमारी के लक्षण नहीं देखे जा रहे हैं।

दिल्ली में ओमिक्रोन से संक्रमित मरीजों के असल आंकड़े इससे अधिक हो सकते हैं। एक दिन पहले ही दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में आ रहे कोरोना के मामलों में 54 फीसद ओमिक्रोन से संक्रमित हैं।कोविड केयर सेंटर में स्थानांतरित किए गए मरीज : दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर ओमिक्रोन के मरीज कोविड केयर सेंटर में भर्ती किए जा रहे हैं। इसी क्रम में लोकनायक अस्पताल से काफी संख्या में ओमिक्रोन संक्रमित मरीज सरकारी कोविड केयर सेंटर और होटल में बने कोविड केयर सेंटर में स्थानांतरित कर दिए गए हैं। एयरपोर्ट पर संक्रमित पाए जा रहे बगैर लक्षण और हल्के लक्षण वाले यात्रियों को भी अब कोविड केयर सेंटर में ही भर्ती किया जा रहा है।

हालांकि कोविड से किसी की मौत होने की पुष्टि नहीं हुई है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि कोरोना से बचाव के लिए सावधानी जरूर बरतें और संयम से काम लें। भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करें और मास्क पहने।