26 जनवरी से पहले गाजीपुर फूलमंडी में आईईडी बम मिलने से दिल्ली पुलिस समेत सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़े

 

स्पेशल सेल में मुकदमा दर्ज, जांच में जुटी सेल

डीसीपी स्पेशल सेल प्रमोद सिंह कुशवाहा के मुताबिक सेल ने कई घंटे तक जांच के दौरान मंडी में लगे 15 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज और डीवीआर कब्ज़े में ले लिया है। उसकी बारीकी से जांच की जाएगी। उधर विस्फोटक के नमूने को एनएसजी ने अपने कब्जे में ले लिया।

नई दिल्ली, संवाददाता। 26 जनवरी से पहले गाजीपुर के फूलमंडी में बम मिलने के मामले ने दिल्ली पुलिस समेत सुरक्षा एजेंसियों की होश उड़ा दिया है। स्पेशल सेल ने इस मामले में विस्फोटक एक्ट व अन्य धाराओ में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

डीसीपी स्पेशल सेल प्रमोद सिंह कुशवाहा के मुताबिक सेल ने कई घंटे तक जांच के दौरान मंडी में लगे 15 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज और डीवीआर कब्ज़े में ले लिया है। उसकी बारीकी से जांच की जाएगी। उधर विस्फोटक के नमूने को एनएसजी ने अपने कब्जे में ले लिया। उसकी फॉरेंसिक जांच कराई जाएगी।

यह बम मंडी में कैसे असेंबल किया गया। यहां तक कैसे लाया गया, इसके पीछे कौन-कौन लोग शामिल हैं पूरे रूट मैप की तफ्तीश की जा रही है। 26 जनवरी से पहले धमाके की इस कोशिश से सुरक्षा एजेंसियां चौकस हो गई है। दहशतगर्द भीड़भाड़ वाली ग़ाज़ीपुर फूल मंडी को निशाना क्यों बनाना चाहते थे। आरोपितों के पकड़े जाने के बाद ही इसका पता लग सकेगा।

मालूम हो कि इससे पहले भी दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में इसी तरह से एक ब्लास्ट हुआ था, वो ब्लास्ट एक लैपटाप बैग के जरिए किया गया था। इसमें पुलिस ने बैग और अन्य चीजों की मदद से डीआरडीओ के एक वैज्ञानिक को गिरफ्तार किया था। तब इस पूरे मामले का खुलासा हुआ था। अब इसके बाद गाजीपुर फूल मंडी में लावारिस बैग में आईईडी की मदद से ब्लास्ट करने की कोशिश की गई जिसको एनएसजी की टीम ने नाकामयाब कर दिया।

अब शुक्रवार की सुबह गाजीपुर फूल मंडी के पास आईईडी से भरा बैग मिलने के बाद दिल्ली पुलिस समेत तमाम सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़ गए हैं। एनएसजी कमांडो सहित पूरी दिल्ली पुलिस की टीम ने मौके पर पहुंचकर फूल मंडी को चारों तरफ से घेर लिया उसके बाद बम को निष्क्रिय करने का काम शुरू किया गया। सूचना पर फोरेंसिक टीम भी जांच के लिए पहुंची। टीम ने कई सबूत जमा किए हैं अब इनके आधार पर जांच की जाएगी।